रिवर्स स्विंग के बचाव में आए इस पाकिस्तानी क्रिकेट ने कही ऐसी बात जो आपको हजम नहीं होगी

Updated on 31 Mar, 2018 at 2:54 pm

Advertisement

बॉल टेम्परिंग के ताजा विवाद से क्रिकेट जगत सकते में है। खिलाड़ी से लेकर प्रशंसक तक सदमें के दौर से गुजर रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच केपटाउन टेस्ट के दौरान कैमरन बैनक्रॉफ्ट गेंद से छेड़छाड़ करते हुए कैमरे पर कैद हो गए थे। इस घटना की वजह से स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर को क्रमशः कप्तान व उपकप्तान के पद से हटा दिया गया। साथ ही उन पर एक साल का प्रतिबंध भी लगा दिया गया है। वहीं, बैनक्रॉफ्ट पर 9 महीने का प्रतिबंध लगा। कप्तान स्मिथ ने माना है कि गेंद को रिवर्स कराने के लिए टीम ने रणनीति बनाकर गेंद से छेड़छाड़ की थी।

 

 


Advertisement

हालांकि, यह पहली बार नहीं है जब रिवर्स स्विंग को शक की निगाहों से देखा जा रहा है। क्रिकेट की दुनिया में पाकिस्तानी गेन्दबाजों ने रिवर्स स्विंग में महारत हासिल कर रखी थी। एक जमाने में उनका खौफ हुआ करता था। यह अलग बात है कि वे कई बार गेन्द से छेड़छाड़ करते हुए पकड़े भी जा चुके हैं। अब जब बॉल टेम्परिंग पर वैश्विक स्तर पर बहस हो रही है, ऐसे समय में यह साफ हो रहा है कि पाकिस्तानी गेन्दबाजी में धार की एक बड़ी वजह गेन्द से छेड़छाड़ रही होगी। खास बात यह है कि जब से हाई-डेफिनिशन (HD) कैमरे आए हैं, तब से अचानक पाकिस्तान क्रिकेट में कथित तेज गेन्दबाजों के आने पर जैसे ब्रेक लग गया है। ऐसे में यह आशंका गहरा गई है कि हो न हो पाकिस्तानी क्रिकेटर्स बड़े पैमाने पर गेन्द से छेड़छाड़ की घटनाओं में लिप्त रहे होंगे।

 

parhlo
शाहिद अफरीदी पर गेन्द से छेड़छाड़ के आरोप लग चुके हैं।

 

हालांकि, अब पाकिस्तानी क्रिकेटर अपने बचाव में आ गए हैं और दावा कर रहे हैं कि बेईमानी किए बिना भी रिवर्स स्विंग हासिल की जा सकती है।

 

 

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेन्दबाज सरफराज नवाज को रिवर्स स्विंग का जनक कहा जाता है। नवाज ने कहा है कि रिवर्स स्विंग हासिल करने के लिए गेन्द से छेड़छाड़ की जरूरत नहीं पड़ती, बल्कि यह तो एक कला है।

सरफराज ने समाचार एजेन्सी AFP को कहाः

“यह कहना गलत है कि रिवर्स स्विंग चीटिंग है। आप गेंद से छेड़छाड़ किए बिना भी रिवर्स स्विंग हासिल कर सकते हैं। एक परंपरागत स्विंग होती है जो आप नई गेंद से हासिल करते हैं और एक रिवर्स स्विंग होती है जो पुरानी गेंद से की जाती है। यह बात प्रयोगशालाओं में भी साबित हो चुकी है कि रिवर्स स्विंग के पीछे एक पूरा विज्ञान है।”

कहा जाता है कि सरफराज ने इस कला को अपने आगे की पीढ़ी के तेज गेन्दबाज इमरान खान को सिखाया था। बाद यह वसीम अकरम और वकार युनूस सरीखे गेन्दबाजों ने इस कला को अपनाया।

 

 

सरफराज कहते हैंः

“यह कला थी और कला रहेगी लेकिन टैंपरिंग चीटिंग है और ऑस्ट्रेलियाई टीम ने जो साउथ अफ्रीका के साथ किया उसकी उन्हें सही सजा मिली है।”

 

हालांकि, इससे पहले इमरान खान यह स्वीकार कर चुके हैं कि वे बोतल के ढक्कन से गेन्द से छेड़छाड़ करते रहे हैं।

 

 

1994 में एक टीवी साक्षात्कार के दौरान इमरान खान से पूछा गया था कि क्या गेन्द से से छेड़छाड़ किए बिना भी वह 362 विकेट हासिल कर पाते।

इस पर इमरान ने कहा थाः

“यह एक मिथक है कि जो भी गेन्द से छेड़छाड़ करता है वह विकेट ले सकता है। पूरे ससेक्स टीम में मैं अकेला था जो गेंद को रिवर्स स्विंग करवा सकता था जबकि दूसरे छोर से अन्य गेंदबाज ऐसा नहीं कर पाते थे।”

बाद में रिवर्स स्विंग की कमान वसीम अकरम और वकार युनिस के हाथ में गई।

 

वकार युनिस गेन्द से छेडछाड़ कर चुके हैं।

 

 

वसीम अकरम कभी गेन्द से छेड़छाड़ करते नहीं पकड़े गए थे। हालांकि, वकार को वर्ष 2000 में श्रीलंका में खेली गई त्रिकोणीय सीरीज सीरीज में गेन्द से छेड़छाड़ का दोषी पाया गया। उन पर एक मैच का प्रतिबंध लगा था। साथ ही मैच फीस का 50 फीसदी जुर्माने के तौर पर काट लिया गया था।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement