अपने लापता सैन्य अधिकारी कर्नल हबीब के लिए बेकरार क्यों है पाकिस्तान ?

Updated on 1 Jun, 2017 at 2:23 pm

Advertisement

पाकिस्तानी अपने लापता मिलीटरी अधिकारी की तलाश में बेकरार दिख रहा है। पाकिस्तान का दावा है कि इसका रिटायर्ड सैन्य अफसर लेफ्टिनेंट कर्नल मोहम्मद हबीब पिछले 6 अप्रैल को नेपाल से लापता हो गया था। पाकिस्तान को अंदेशा है कि हबीब भारत में हो सकते है। इस संबंध में पहली बार पाकिस्तानी की तरफ से भारत से जानकारी मांगी गई है।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, अंतिम बार हबीब जहीर लुम्बिनी हवाई अड्डा पर देखा गया था।

पाकिस्तान द्वारा पकड़े गए भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर जारी विवाद अभी उफान पर ही था, ऐसे में पाकिस्तान द्वारा लेफ्टिनेंट कर्नल मोहम्मद हबीब जहीर के बारे जानकारी मांगे जाने से मामला अलग मोड़ लेता दिख रहा है।

जाधव के मसले पर दोनों देश इंटरनैशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस (ICJ) में आमने-सामने हैं।


Advertisement

वहीं भारतीय अधिकारियों ने हबीब के बारे में किसी प्रकार की जानकारी न होने की बात कही है।

जासूसी का आरोप लगाकर पाक सैन्य कोर्ट द्वारा जाधव को फांसी सुनाए जाने के फैसले पर आईसीजे की ओर से रोक लगा दिए जाने के बाद पाकिस्तान की खासी किरकिरी हुई थी।

कुछ दिनों पहले पाकिस्तान के एक सुरक्षा अधिकारी ने स्थानीय मीडिया में बयान दिया था कि भारत ने जाधव को बचाने के लिए हबीब का अपहरण किया है। हालांकि, ऐसा पहली बार हो रहा है कि पाक अफसर के बारे में पाकिस्तान ने आधिकारिक तौर पर भारत से कोई जानकारी मांगी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, हबीब पहले पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ काम करता था। लापता होने से पहले वह काठमांडू से लुम्बिनी पहुंचा था।

हबीब के परिवार का कहना है कि उसे यूएन एजेंसी की तरफ से नेपाल में नौकरी करने का ऑफर मिला था, जिसकी एवज में उसे 8500 डॉलर (लगभग 5.48 लाख रुपये) प्रति महीने की सैलरी मिलने की बात भी कही गई थी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement