रावण ने मरते वक्त लक्ष्मण से कही थी ये बातें जो आज भी बड़े काम की हैं

Updated on 17 Oct, 2018 at 7:23 pm

Advertisement

हिंदू धर्मशास्त्रों के अनुसार रावण जितना दुष्ट था उतना ही बुद्धिमान भी। रावण को महाविद्वान और प्रकांड पंडित कहा गया है। रावण ने भले ही माता सीता का हरण करने जैसा महापाप किया हो लेकिन उसके जैसा महाबली, पराक्रमी और ज्ञानी पंडित पूरे ब्रह्मांड में कोई नहीं था। रावण इतना पराक्रमी था उसने यमराज को भी हराकर अपने महल में बंदी बना लिया था। रावण ने न केवल देवताओं पर विजय प्राप्त की, बल्कि उसने भगवान शिव से भी युद्ध किया। युद्ध में हार जाने के बाद रावण ने शिव को अपना गुरु बना लिया। भगवान राम ने लंकेश्वर का वध करके पुरे विश्व में शांति की स्थापना की। मगर रावण ने मरते समय लक्ष्मण को कुछ ऐसी ज्ञान की बातें कही, जिसे पढ़कर शायद आपको भी इस बात का यकिन हो जायेगा रावण जैसा विद्धान पुरे संसार में कोई और हो ही नहीं सकता।

 

रावण ने लक्ष्मण से कहा कभी भी अपने सारथी, दरबान, खानसामें और भाई से दुश्मनी नहीं करनी चाहिए। ये सभी लोग कभी भी नुकसान पंहुचा सकते है।

 


Advertisement

अगर आप हर युद्ध में जीतते रहे हो, तो कभी भी खुद को हमेशा विजेता मानने की गलती न करें।

 

रावण ने मरन से पहले लक्ष्मण को दी थी यह सीख- Ravana's Lessons To Laxamana Before He Died

 

जो लोग आपकी आलोचना करते है वो आपके सच्चे दोस्त हैं।

 

 

कभी भी अपने दुश्मन को कमजोर, छोटा और मामूली न समझें।

 

कभी भी खुदपर घमंड न करें, क्योकि जो भी हो रहा है वो आपका भाग्य है।

 

 

चाहे आपकी आस्था भगवान में हो या न हो, जो भी करें पुरे विश्वास के साथ करें।

 

 

यदि राजा युद्ध में विजय होना चाहते हैं तो आपको लालच को त्यागना होगा।

 

राजा को हमेशा अपनी प्रजा के हित के लिए सोचना चाहिए उसे जब भी मौका मिले प्रजा की भलाई करनी चाहिए, उसे कभी भी स्वार्थी नहीं होना चाहिए।

 

आज के समय में अगर हम रावण की सीख को अपना लें तो शायद हमें आने वाले समय में जीवन जीने में आसानी होगीं।


Advertisement

Tags

आपके विचार


  • Advertisement