पाकिस्तान में 6 साल की मासूम के रेपिस्ट को पिता के सामने फांसी पर चढ़ाया गया

5:52 pm 18 Oct, 2018

Advertisement

पाकिस्तान के एक परिवार की 6 साल की मासूम सी बच्ची जैनब अमीन अब इस दुनिया को अलविदा कह चुकी है। उसकी मौत की वजह बना एक वहशी, जिसकी बदनीयत उस मासूम की जिंदगी लील गई।

 

 

जनवरी 2018 को जैनब के माता-पिता हज के लिए सऊदी अरब गए। इस दौरान उन्होंने 6 साल की इस मासूम को करीबी रिश्तेदारों के यहां छोड़ दिया। इस बीच बच्ची पास के ही एक मौलवी के यहां कुरान पढ़ने जाया करती थी। एक रोज़ जेनब घर से निकली तो मोलवी साहब के पास पहुंची ही नहीं। बच्ची के गुम होने पर उसके चाचा ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई।

 

पुलिस ने मामले की जांच करते हुए सीसीटीवी फुटेज खंगाला, जिसमें एक दाढ़ी वाला शख्स जैनब की उंगली पकड़कर उसे कहीं ले जाता हुआ नज़र आ रहा था। काफ़ी लंबी चली तहकीकात के बाद जैनब मिली, मगर जिंदा नहीं। उसकी लाश एक कचरे के ढेर में पड़ी मिली।

 

 

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में सामने आया बच्ची के साथ बलात्कार कर उसे बड़ी ही बेरहमी से मारा गया था। बच्ची के साथ जानवर से भी ज़्यादा बुरा बर्ताव करने वाले शख्स का नाम था इमरान अली। इमरान पर मुकदमा चला, पहले हाई कोर्ट, फिर सुप्रीम कोर्ट और आखिर में राष्ट्रपति की तरफ़ से उसकी याचिका को ठुकरा दिया गया। आखिरकार 17 अक्टूबर को इमरान को फांसी पर चढ़ा दिया गया। खास बात है कि बच्ची के रेपिस्ट को पिता के सामने ही फांसी दी गई।

जैनब के साथ हुए अपराध की वजह से स्थानीय लोग काफी गुस्से में थे। यही वजह है इस केस में सुनवाई काफ़ी तेजी से पूरी हुई। साल 2018 में 6 साल की मासूम बच्ची के साथ रेप हुआ, साल खत्म होने से पहले ही कसूरवार को बच्ची के पिता के सामने ही फांसी पर चढ़ा दिया गया। अगर इस केस पर लोगों का इतना दबाव नहीं होता तो आप जानते ही हैं भारत और पाकिस्तान में एक केस की उम्र इंसान से कहीं ज़्यादा होती है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement