इस तस्वीर के वायरल होने के बाद ममता बनर्जी की सरकार घिर गई है

Updated on 29 Mar, 2018 at 12:50 pm

Advertisement

रामनवमी के बाद से लेकर अब तक पश्चिम बंगाल के कई इलाकों में हिंसा अनवरत जारी है। पुरुलिया, मुर्शिदाबाद और रानीगंज सहित कई इलाकों में हुई हिंसा में अब तक कम से कम तीन लोग मारे जा चुके हैं, और दर्जनों घायल हुए हैं।

 

 


Advertisement

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया है कि बर्दवान जिले के आसनसोल और रानीगंज के इलाकों में 26 मार्च को हिंसा की शुरुआत तब हुई जब रामनवमी के जुलूस पर पत्थर फेंके गए। इसके बाद आसनसोल और रानीगंज में जमकर हिंसा हुई है। यहां तक कि उपद्रवियों द्वारा बम फेंके जाने से पुलिस उपायुक्त अरिंदम दत्त चौधरी बुरी तरह घायल हुए हैं। उनका दायां हाथ उड़ गया है। इस घटना में कई और पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं।

 

केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने रानीगंज हिंसा को पुलिसबल की नाकामी करार दिया है। सुप्रियो ने मांग की है कि बंगाल के हिंसाग्रस्त इलाकों में केन्द्रीय बलों की तैनाती अविलंब की जाए।

 

बाबुल सुप्रियो ने एक बाद एक ट्वीट्स किए हैं।

 

 

शहर के हालात इस कदर खराब हैं कि बर्दवान (पश्चिम) के जिलाधीश शशांक शेट्टी ने सेना को उतारे जाने की अनुशंसा की है।

 

फिलहाल अरिंदम दत्त चौधरी के घायल होने की यह तस्वीर इन्टरनेट पर आग की तरह फैल रही है।

 

 

ट्विटर यूजर्स ममता सरकार को लताड़ लगा रहे हैं।

 



बंगाल में हिंसा की घटनाओं से आप अपनी राय से हमें जरूर अवगत कराएं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement