अंतरिक्ष में कदम रखने वाले पहले भारतीय राकेश शर्मा

author image
4:08 pm 13 Jan, 2016

Advertisement

राकेश शर्मा अंतरिक्ष में कदम रखने वाले पहले भारतीय हैं। उन्होंने 1984 में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) और सोवियत संघ के इंटरकॉसमॉस कार्यक्रम के एक साझा अंतरिक्ष अभियान के तहत अंतरिक्ष का 8 दिनों का दौरा किया था। उन्हें यह उपलब्धि 2 अप्रैल, 1984 को मिली।

इसी के साथ 13 जनवरी 1949 को जन्‍में राकेश देश के पहले अंतरिक्ष यात्री बन गए। राकेश उस वक़्त भारतीय वायुसेना के स्क्वाड्रन लीडर थे। उनकी इस उपलब्धि के लिए उन्हें भारत सरकार ने ‘अशोक चक्र’ से सम्मानित भी किया।


Advertisement

राकेश शर्मा को बचपन से ही विज्ञानं से जुडी चीज़ों, तथ्यों से लगाव रहा है। उनकी ज़िन्दगी में अहम मोड़ तब आया जब वह 1966 में एनडीए पास कर एयर फोर्स में कैडेट बने। इसके बाद 1970 में वह भारतीय वायु सेना से जुड़े। राकेश शर्मा उस समय चर्चा के केंद्र बने जब 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के दौरान उन्हें सफलतापूर्वक मिग फाइटर जेट का संचालन किया और विजय हासिल की।

राकेश शर्मा जब अपनी अंतरिक्ष यात्रा पूरी कर वापस लौटे तो इंदिरा गांधी ने उनसे पुछा था कि अंतरिक्ष से भारत कैसा दिखता है तब उन्होंने बड़ा ही ख़ास जवाब दिया था- “सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा।”

नवंबर 2006 में राकेश शर्मा भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) की समिति के सदस्‍य के रूप में चुने गए।उन्हें भारत के पहले और विश्व के 138वें अंतरिक्ष यात्री के रूप में जाना जाता है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement