चोरों ने एक प्रीमियम ट्रेन के कई कोच चुरा लिए, अधिकारियों को खबर तक नहीं हुई

Updated on 8 Jun, 2018 at 11:00 am

Advertisement

टैक्स से लेकर बिजली और पानी से लेकर पटरी तक इस देश में हर चीज की चोरी होती है। ये हालत तब है जब चोरी, डकैती और लूट जैसे अपराधों के खिलाफ कानून-व्यवस्था नाम की कोई चीज है। छोटी-मोटी चोरी की वारदातों के बारे में तो आप आए दिन सुनते ही रहते होंगे, लेकिन अब ऐसा लगता है कि चोरों को इस तरह की चोरियां बचकानी लगने लगी हैं।

जेब से मोबाइल और पर्स की चोरी अब कोई चोरी नहीं रही, पेशेवर चोर इस तरह की चोरी को अपनी तौहीन समझने लगे है, ये कुछ बड़ा करके दिखाना चाहते है। शायद इसलिए इस बार चोरों ने कुछ ऐसा किया है, जिसने चोरी के इतिहास में नए मानक स्थापित कर दिए हैं। सामान और नगदी चुराने वाले कई चोरों के बारे में आपने पढ़ा, सुना और देखा होगा, लेकिन शायद आपने कभी इस बात  की कल्पना भी नहीं की होगी कि रेलवे यार्ड पर खड़े ट्रेन के डिब्बों की भी चोरी हो सकती है।

 

ट्रेन के डिब्बों की चोरी ( Train coaches looted)

jansatta


Advertisement

 

जी हां, रांची में चोरों ने प्रीमियम ट्रेन के 3 कोचों पर अपना हाथ साफ कर दिया, चोरों के हौसले इतने बुलंद थे कि ये ट्रैक पर खड़े ट्रेन के डिब्बे गप्प कर गए और किसी को कानों-कान खबर भी नहीं हुई।

 

रांची डिविजन पर तैनात रेल अधिकारियों को भी इस बात की कोई जानकारी नहीं है कि आखिर डिब्बे गए कहां।



 

रेलवे बोगियों की उम्र सीमित होती है, इनकी क्वालिटी खराब होने के बाद डिब्बों को बदल दिया जाता है। कुछ दिनों पहले राजधानी की तीन बोगियां खराब होने पर उन्हें बदला गया था। लेकिन यार्ड में आते ही इन बोगियों की चोरी हो गई।

 

 

इस तरह की चोरी से एक बात तो तय है कि अब ये चोर समाज के साथ साथ देश की व्यवस्था पर भी प्रहार करने लगे हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement