Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

रबीन्द्रनाथ टैगोर ने भारत के अलावा इन देशों के राष्ट्रगान भी लिखे थे

Updated on 10 September, 2018 at 12:38 am By

कुछ ऐसे व्यक्तित्व होते हैं जो समय से परे अनंतकाल के लिए अजर-अमर हो जाते हैं। ऐसे ही कालजयी कलमकार हुए रबीन्द्रनाथ टैगोर। ‘आमार सोनार बांग्ला’ लिखने वाले टैगोर विश्वकवि बन गए और आज भी अपनी रचनाओं के माध्यम से नई पीढ़ी को प्रेरित कर रहे हैं। वह एक ऐसे व्यक्ति हुए, जिन्होंने अपने दिल की सुनी और लोग उनकी सुनने लगे।

तभी तो उन्होंने लिखा था कि ‘एकला चलो रे…


Advertisement

 

 

इनकी रचनाओं में वो बात थी कि मातृभाषा बांग्ला में लिखने के बावजूद विश्वभर में अमिट छाप छोड़ सकी। ये पहले एशियाई थे, जिन्हें नोबल पुरस्कार से नवाजा गया था। इनका जन्म 7 मई, 1861 को कलकत्ता के प्रसिद्ध जोड़ासांको में हुआ था। इन्होंने बंगाल की संस्कृति को नया गठन दिया, नई परिभाषा दी। गीत, संगीत, कला, शिक्षा आदि अनेक क्षेत्रों में इन्होंने अपना योगदान दिया और जग-प्रसिद्ध हुए।

 

ऐसी अनेक बातें हैं जो राष्ट्रगान ‘जन, गण, मन के रचयिता रबीन्द्रनाथ टैगोर के बारे में पाठ्यक्रमों से लेकर अन्य माध्यमों से हम लोग जानते रहे हैं। हालांकि, हम यहां आपको कुछ अलग ही चीज बताने जा रहे हैं।



यह जानकर आपको अचरज होगा कि टैगोर ने भारत के राष्ट्रगान के अलावा बांग्लादेश का राष्ट्रगान भी लिखा था। वहीं, श्रीलंका का राष्ट्रगान भी 1938 में लिखे इनके गीत का ही सिंहली अनुवाद है।


Advertisement

 

 

रबीन्द्रनाथ टैगोर प्रकृति के समीप रहना पसंद करते थे और उनका सोचना था कि शिक्षार्जन के लिए प्रकृति के समीप रहना जरूरी है। इसीलिए उन्होंने शांति निकेतन की स्थापना की थी। पद्मा नदी को लेकर जो उनमें अगाध प्रेम था, वह जगविदित है।

 

 


Advertisement

आधुनिक भारत के असाधारण सृजनशील कलाकार को हमारा शत-शत वंदन!

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर