इंफोसिस इंजीनियर की हत्या साबित करती है कि महिलाएं दफ्तर में भी सुरक्षित नहीं हैं, बाहर की तो बात ही छोड़िए

author image
Updated on 30 Jan, 2017 at 2:30 pm

Advertisement

यहां सड़कों पर चलना महिलाओं के लिए दूभर तो है ही, अब ऑफिस के अंदर भी महिला सुरक्षित नहीं है। पुणे के हिंदवाड़ी स्थित इंफोसिस ऑफिस में काम करने वाली एक महिला सॉफ्टवेयर इंजीनियर की कथित तौर पर गला घोंटकर हत्या कर दी गई है।

इंफोसिस में कार्यरत 25 साल की के. रासिला राजू की हत्या के सिलसिले में कंपनी के सुरक्षा गार्ड को हिरासत में लिया गया है। केरल की रहने वाली रासिला राजू  कंपनी के कांफ्रेंस रूम में 29 जनवरी की रात मृत पाई गई थीं।

के. रासिला राजू financialexpress

हिंदवाड़ी पुलिस थाना के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक ने बताया कि कंपनी परिसर के सीसीटीवी फुटेज और अन्य सुरागों के आधार पर असम के रहने वाले सुरक्षा गार्ड को इस पूरे मामले में मुंबई से गिरफ्तार किया गया है। वह घटना के बाद फरार था।

पुलिस ने गार्ड को धर दबोचने के लिए जगह-जगह छापेमारी शुरू कर दी और 30 जनवरी की सुबह पुलिस ने उसे CST स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। हालांकि, रासिला की हत्या के पीछे के मकसद का अभी पता नहीं चला है।

आरोपी भाभेन सैकिया intoday


Advertisement

संदिग्ध की पहचान भाभेन सैकिया के रूप में की गई है जो इंफोसिस कंपनी में एक गार्ड के रूप में तैनात था। गिरफ्तार करने के बाद उसे पुणे लाया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि  रासिला राजू की हत्या कंप्यूटर के तार से कथित तौर पर गला घोंटकर की गई और उनके चेहरे पर चोट के निशान भी पाए गए हैं। पुलिस के अनुसार, घटना शाम को करीब पांच बजे के आसपास की है, लेकिन पुलिस को इसकी सूचना रविवार रात करीब आठ बजे मिली।

सहायक पुलिस आयुक्त वैशाली जाधव ने जानकारी दी कि 29 जनवरी को रासिला काम कर रही थी जबकि बेंगलुरू में उसके दो सहकर्मी ऑनलाइन थे। अधिकारी ने बतायाः



“मैनेजर ने जब महिला इंजीनियर को फोन लगाया तो कोई जवाब नहीं मिला। इसके बाद मैनेजर ने चिंतित होकर गार्ड को फोन किया और अंदर जाकर देखने को कहा। सिक्योरिटी गार्ड जब अंदर गया, तो महिला अपने कार्यस्थल पर पड़ी हुई मिली।”

पुलिस ने बताया कि धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है और आगे की जांच की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। इस बीच, इंफोसिस ने अपने कर्मचारी की मौत पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वे इस दुभार्ग्यपूर्ण घटना और एक सहयोगी के खो देने पर पर दुःखी और स्तब्ध हैं। उनकी संवेदनाएं कर्मचारी के परिवार और दोस्तों के साथ है। कंपनी ने जांच में पुलिस का सहयोग करने और कर्मचारी के परिवार को हरसंभव सहायता प्रदान करने की बात कही है।

इस तरह की यह पहली वारदात नहीं है।  पुणे शहर में एक महीने के अंदर महिला सॉफ्टवेयर इंजीनियर की हत्या का ये दूसरा मामला है।  इससे पहले 21 साल की सॉफ्टवेयर इंजीनियर अंतरा दास की पुणे के बाहरी इलाके तलावड़े के कानबाय चौक के पास एक शख्स ने धारदार हथियार से हमला कर बेरहमी से हत्या की वारदात को अंजाम दिया था। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को बेंगलुरू से गिरफ्तार किया था।

 

 


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement