पुणे पुलिस की काबिले तारीफ कार्यवाई, 9 घंटे से भी कम समय में बच्ची को किडनैपर्स से छुड़ाया

Updated on 18 Nov, 2018 at 6:27 pm

Advertisement

भारत में पुलिस का रवैया कैसा है ये बात किसी से छिपी नहीं। इस देश के ज्यादातर गांव और शहरों में पुलिसिया रवैया उनकी कार्य प्रणाली पर कई सवालिया निशान खड़े करता है। नागरिकों की उलझने और परेशानियों को लेकर जिस तरह पुलिस ग़ैर ज़िम्मेदाराना तरीके से पेश आती है उसकी वजह से बहुत से लोगों का विश्वास पुसिक से उठता जा रहा है।

लेकिन मुंबई में हाल ही में पुलिस ने कुछ ऐसा किया जिके जानने के बाद आप खुद को पुलिस की तारीफ करने सेे नहीं रोक सकेंगे। महाराष्ट्र के पुणे में पुलिस ने एक बच्ची की अपहरण की गुत्थी महज 9 मंडे में सुलझाकर बच्ची कोे सुरक्षित मांता-पिता के पास पहुंचा दिया।

 


Advertisement

दरअसल, पुणे में एक बच्ची स्कूल से लौटने के बाद पास की दुकान में पेन खरीद के लिए अपनी कॉलोनी की बिल्डिंग से बाहर निकली। बच्ची दुकान तक पहूुंची भी नहीं थी कि इस बीच पहले से घात लगाए बैठे कुछ किडनैपर्स ने बच्ची को अगवाह कर जबरन गाड़ी में बिठा लिया। दिन दहाड़े बच्ची को अगवा होते देख दुकानदार ने अपनी बाइक पर किडनैपर्स का पीछा करना शुरू कर दिया। लेकिन देखते ही देखते किडनैपर्स की गाड़ी कहीं गयाब हो गई। इसके बाद दुकानदार ने पुलिस को इस बार में सूचित किया।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस ने सारे शहर में नाकाबंदी कर दी। इसके बाद पुलिसा ने कार्यवाई करते हुए सीसीटीवीज़ को खंगलना शुरू किया और हर उस रास्ते पर लगी सीसीटीवी फुटेज निकाली जहां से किडनैपर्स बच्ची को लेकर गए थे। आखिरका पुलिस उस जगह तक पहुंच गई जहां किडनैपर्स ने बच्ची को अगवाह कर रखा हुआ था।



 

 

किडनैपर्स ने बच्ची के पिता से फिरौती के रूप में 50 लाख रुपये की मांग की थी। पुलिस ने एक सुनियोजित प्लान बनाकर पैसे जुटाए और किडनैपर्स को गिरफ्तार कर लिया।

इस ऑपरेशन को पूरा करने में पुलिस को 9 घंटो से भी कम का वक्त लगा। वाकई पुणे पुलिस की इस फुर्ती के चलते किसी की जिंगदी उजड़ने से बच गई।

महाराष्ट्र पुलिस को हमारा सलाम, आखिर वो इसके हकदार हैं। पुलिस के इस तरह के एक्शन पर आपकी क्या राय है, हमें जरूर लिखें।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement