Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

लगभग 1 करोड़ रुपये में बने इस पब्लिक टॉयलेट की खासियत उड़ा देगी आपके होश

Published on 5 October, 2018 at 9:58 am By

आम तौर पर लोग पब्लिक टॉयलेट को इस्तेमाल करने से पहले दो बार सोचते हैं। बहुत ज्यादा ज़रूरत पड़ने पर ही कोई सार्वजनिक शौचालयों में जाता है। देश के कुछ प्रमुख महानगरों को छोड़ दें तो ज्यादातर शहरों में पब्लिक टॉयलेट की स्थिति काफी दयनीय है। आप भी कभी न कभी इस तरह के शौचालयों से दो-चार हुए होंगे। लेकिन हाल ही में मुंबई की मरीन ड्राइव में एक इको फ्रेंडली पब्लिक टॉयलेट बनवाया गया है, जिसकी काफी चर्चा हो रही है। वजह है इसकी कीमत। मुंबई में बीएमसी ने इस टॉयलेट को 90 लाख रुपये में बनवाया है। अब आपके मन में भी यह सवाल उठ रहा होगा कि आखिर टॉयलेट में ऐसा भी क्या खास है।


Advertisement

 

चलिए आपको विस्तार से इस सार्वजनिक टॉयलेट के बारे में बताते हैं। दरअसल, बृहन्मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के बनाए इस टॉयलेट की कीमत 90 लाख रुपये है। जो अन्य सार्वजनिक शौचालयों से बिलकुल हटकर है। मुंबई के मशहूर मरीन ड्राइव पर रोज़ाना जॉगिंग और साइक्लिंग के लिए आने वाले लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए इस शानदार पब्लिक टॉयलेट को बनवाया गया है, जबकि इससे पहले यहां पर कोई भी पब्लिक टॉयलेट नहीं हुआ करता था।
इस शौचालय को पर्यावरण को ध्यान में रखकर बनाया गया है। यहां पानी को बचाने के लिए सोलर पैनल और वैक्यूम टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल किया जाएगा। इसे आप इको फ्रेंडली पब्लिक टॉयलेट भी कह सकते हैं। ट्रायलेट के महंगे होने की वजह इसमें इस्तेमाल होने वाली टेक्नोलॉजी है। महंगी टेकनोलॉजी के चलते इस पब्लिक टॉयलेट की लागत 90 लाख के करीब पहुच गई है।

आमतौर पर टॉयलेट में एक बार फ्लश करने लिए लगभग 8 लीटर पानी की जरूरत होती है, जबकि इस इको फ्रेंडली टॉयलेट में केवल 800 मिलीलीटर पानी का इस्तेमाल किया जायेगा।

टॉयलेट के निर्माण की बात करें तो इसे जिंदल समूह और सैमाटेक द्वारा कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी (CSR) के तहत  बनवाया गया है। शुरू के 2 महीनों में इस सार्वजनिक टॉयलेट का इस्तेमाल लोग मुफ्त कर सकेंगे, लेकिन बाद में इसका इस्तेमाल करने के लिए सामान्य शुल्क देना पड़गा।



 

 


Advertisement

बीएमसी अपने एक पब्लिक टॉयलेट को बनाने के लिए लगभग 30 से 40 लाख रुपये लगाती है, जबकि इस टॉयलेट को शानदार बनाने के लिए नगर निगम को बिल्डिंग मेटीरियल और डिजाइन वर्क फ्री में मिला है।

Advertisement

नई कहानियां

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़

जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़


क्या Clash of Clans के बारे में पहले कभी सुना है? जानिए इसके बारे में सबकुछ

क्या Clash of Clans के बारे में पहले कभी सुना है? जानिए इसके बारे में सबकुछ


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर