Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

26/11 के दौरान चार गोलियां खाकर भी आतंकियों के आगे डटे रहे प्रवीण तेवतिया, बचाई 150 लोगों की जान

Updated on 30 January, 2019 at 11:41 pm By

आप सभी को मार्कोस कमांडो प्रवीण कुमार तेवतिया तो याद ही होंगे, जो 26/11 हमले के दौरान ताज होटल में बचाव दल के साथ तीसरी टीम का हिस्सा थे। आतंकवादियों के साथ लड़ाई के दौरान प्रवीण को 4 गोलियां लगी थीं, जिससे उनकी सुनने की क्षमता और लंग्स हमेशा के लिए खराब हो गए।


Advertisement

 

हाल ही में हमारी प्रवीण तेवतिया जी से बातचीत हुई। इस दौरान उन्होंने कई मुद्दों को लेकर अपने विचार हमसे साझा किए। 26/11 के दिन ताज होटल में क्या-क्या हुआ, कैसे और किस तरह उन्होंने चार गोलियां खाने के बावजूद भी आतंकियों से लोहा लिया और 150 लोगों को सुरक्षित निकाला, इसका ज़िक्र उन्होंने हमसे किया।

 

Praveen Teotia

 

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के भटोना गांव के रहने वाले प्रवीण को उनके छोटे कद की वजह से भारतीय सेना में जगह नहीं मिल पाई। राष्ट्र की सेवा के लिए वो साल 2002 में नौसेना में भर्ती हो गए। 3 साल बाद उन्होंने मार्कोस इकाई के साथ जुड़ने का फ़ैसला किया। गुजरात में ट्रेनिंग से लौटने के बाद वो कुछ दिन की छुट्टियों पर जाने वाले थे। लेकिन उनहें आधी रात में ही एक रेस्क्यू ऑपरेशन का हिस्सा बना लिया गया। होटल के अंदर पहुंचते ही वो अपनी टीम से अलग हो गए।



26/11 के हमलों के दौरान लगी चोट की वजह से तिवतिया आंशिक रूप से अक्षम हो गए थे। भारतीय नौसेना के नियमों के मुताबिक वो एक्टिव ड्यूटी पर नहीं रह सकते थे, जिसके कारण उन्हें नौसेना द्वारा डेस्क जॉब दे दिया गया। इस ड्यूटी ने उन्हें दुनिया की सबसे कठिन रेस में दौड़ने के लिए प्रोत्साहित किया। इसके बाद प्रवीण ने दक्षिण अफ्रीका में आयोजित ट्रायथलॉन चैम्पियनशिप 2018 में हिस्सा लिया और देश के पहले आयरनमैन का खिताब हासिल किया।


Advertisement

 

 

प्रवीण तेवतिया ने हमसे अपनी बातचीत में अपने संघर्ष और परिश्रम के बारे में तो बताया ही, साथ ही युवाओं के नाम सन्देश भी दिया। उधर गणतंत्र दिवस के मौके पर झंडा फहराने को लेकर भी अपनी महत्वपुर्ण बात रखी।

 

 


Advertisement

प्रवीण तेवतिया की बहादुरी को शब्दों में बयां करना नामुमकिन है। उनकी कहानी एक प्रेरणा है देश के युवाओं के लिए। चाहे बात आतंकी हमले में बहादुरी दिखाने की हो या देश का पहला आयरनमैन बनने की, प्रवीण तेवतिया की बहादुरी वाकई प्रेरणादायक है।

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर