7 गोल्ड मेडल जीतने वाली यह महिला खिलाड़ी आज चाय बेचने को है मजबूर !

author image
Updated on 12 May, 2017 at 5:11 pm

Advertisement

इस एक प्रदेश ने देश को कई खिलाड़ी दिए हैं, जिन्होंने अंतरराष्ट्रीय मंच पर कई मौकों पर देश का नाम रौशन किया है। लेकिन इसी प्रदेश की एक खिलाड़ी की जो दुर्दशा है, वो यह सोचने को मजबूर करती है कि आखिरकार जो खिलाड़ी अपना खून पसीना बहाकर मेडल लाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगाते हैं, प्रदेश की सरकारें उनका ख्याल क्यों नहीं रखती।

यहां हम बात कर रहे हैं हरियाणा के सोनीपत की रहने वाली संतोष की। राष्ट्रीय और राज्य स्तर पर 7 गोल्ड जीतने वाली महिला वेट लिफ्टर संतोष चाय बेचने को मजबूर है।

एक हादसे ने उनकी जिंदगी ही बदल दी।

अपने साथ हुई एक आपबीती का जिक्र करते हुए संतोष ने बताया कि जब वह एक दिन ट्रेनिंग कर रही थी तब प्रैक्टिस के दौरान उन्हें गंभीर चोट लग गई। चोट इतनी गहरी थी कि उससे उबरने में उन्हें वक्त लग गया। ऐसे में चोट उनके पॉवरलिफ्टिंग के करियर में सबसे बड़ा रोड़ा साबित हुई। वह उसके बाद दोबारा वापसी नहीं कर सकी।

हालात की मजबूरी देखिए, अब वह अपने पिता के साथ चाय की दूकान पर चाय बेचती हैं। साथ ही एक जगह बाउंसर के तौर पर भी काम कर रही हैं।

अब संतोष की सरकार से एक ही गुहार है कि उन्हें कहीं नौकरी दी जाए। संतोष ने कहा कि उन्होंने  कई महत्वपूर्ण चैंपियनशिप में जीत दर्ज की है। अब उन्हें उम्मीद है की सरकार उनकी इस गुहार को सुनेगी।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement