उत्तर प्रदेश में 4 महीने के भीतर 1,172 बाल-विवाह रोके गए, ये है वजह

author image
Updated on 26 Aug, 2016 at 1:30 pm

Advertisement

हजारों की संख्या में स्कूल और कॉलेज जाने वाली लड़कियों को उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा चलाई गई ‘पॉवर एंजेल्स’ पहल के अन्तर्गत स्पेशल पुलिस ऑफिसर्स (SPO) नियुक्त किया गया है। यह पहल महिलाओं के खिलाफ अत्याचारों, अपराधों की जांच करने की दिशा में एक अहम कदम है।

‘पॉवर एंजेल्स’ पहल के तहत पिछले चार महीने में राज्य भर में 1172 बाल विवाह रोकने में सफलत हासिल हुई है।

जब उत्तर प्रदेश पुलिस का SPO के रूप में दो लाख लड़कियों को नियुक्त करने का उद्देश्य था, ऐसे में किसी ने नहीं सोचा था कि 4 से 5 महीने के अंदर ही 83,000 लडकियां इस पहल के साथ जुड़ जाएंगी।

देश में पहली बार अपनी तरह की इस पहल के तहत, पूरे राज्य में शैक्षिक संस्थानों, पुलिस स्टेशनों और ग्राम प्रधान के माध्यम से आवेदन के लिए चार लाख फॉर्म लड़कियों को बांटे गए।

पुलिस उप-अधीक्षक (महिला सेल) बबीता सिंह ने टाइम्स ऑफ इंडिया को बतायाः


Advertisement

“पॉवर एंजेल्स की जरूरत महसूस की गई, क्योंकि आम तौर पर कई महिलाएं अपने ऊपर हो रहे अत्याचारों के खिलाफ आवाज नहीं उठा पाती और साथ ही जरूरी कानूनों के बारे में जागरूक नहीं हैं। ऐसे में पॉवर एंजेल्स अपने आस-पास की घटनाओं पर नजर बनाए हुए, उन महिलाओं की आवाज बन कर खड़ी हो, उत्पीड़न और घरेलू हिंसा के मामलों के बारे में पुलिस को सूचित करती हैं, जो अपनी आवाज को उठाने में झिझक या डर महसूस करती हैं। इसके बाद फिर पुलिस अपनी कार्रवाई करती है।”

साथ ही यह पॉवर एंजेल्स, महिलाओं को महिलाओं से संबंधित कानूनों और अधिकारों के प्रति जागरूक रखने का कार्य भी करती हैं।

SPO के लिए आवेदन कर रहे प्रतिभागी का कम से कम 10वीं पास होना अनिवार्य है। साथ ही प्रतिभागी माता-पिता की सहमति से स्कूलों कॉलेजों द्वारा नामित किया होना चाहिए। इस विशेष पद का कार्यकाल 5 साल का है, जिसमें हर SPO को पहचान पत्र दिया जाता है।

यूपी में हर साल 16 लाख के करीब लडकियां हाई स्कूल पास करती हैं। यूपी पुलिस इस पहल के साथ ऐसी ही स्कूली लड़कियों को जोड़ने के मकसद में लगी हुई है। इस तरह से अगर हर साल में, ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में, करीब 2 लाख लडकियां पॉवर एंजेल्स से जुड़ती है तो अगले 10 साल में 20 लाख लडकियां इस पहल का हिस्सा होंगी।

महिला सेल की इंस्पेक्टर जनरल (IG) ने बताया कि यह स्पेशल पुलिस ऑफिसर्स अवैतनिक वालंटियर्स के रूप में काम करेंगे और उनकी सेवाओं के लिए उन्हें प्रमाण पत्र से सम्मानित किया जाएगा। साथ ही अगर किसी वालंटियर का काम वास्तव में औरों की तुलना में ख़ास रहा उसे विशेष रूप से प्रशंसा पत्र दिया जाएगा।

वहीं, पहले बैच के 1000 स्पेशल पुलिस ऑफिसर्स ने इसी साल ट्रेनिंग ली।

83,000 कार्ड्स के वितरण का काम अब भी चल रहा है। इस के बावजूद, सकारात्मक परिणाम अभी से दिखने शुरू हो गए हैं। आंकड़ों के मुताबिक, इसी साल अप्रैल के बाद से 4 महीने में ही इन पॉवर एंजेल्स द्वारा 1172 बाल-विवाह रोके गए हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement