देश की कई राजनीतिक पार्टियों को 1 साल में मिला करोड़ों का चंदा, भाजपा सबसे आगे

author image
Updated on 11 Jul, 2016 at 1:25 am

Advertisement

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स नाम की एक रिपोर्ट ने देश की विभिन्न राजनीतिक पार्टियों को प्राप्त हुए चंदे को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, वर्ष 2014-15 में 6 चुनावी ट्रस्ट के जरिए 19 राजनीतिक पार्टियों को 177.4 करोड़ रुपए का चंदा हासिल हुआ है। इनमें से BJP को सबसे ज़्यादा 63 फीसदी चंदा मिला।

सबसे अधिक चंदा पाने वालों की सूची में पहला भाजपा का नाम है, जिन्हें कुल 111.5 करोड़ रुपए का चंदा मिला। वहीं, दूसरे स्थान पर कांग्रेस है, जिसे 31.7 करोड़ रुपए का चंदा हासिल हुआ। इसी सूची में तीसरे पायदान पर एनसीपी रही और उसे 6.8 करोड़ रुपए का चंदा मिला।

ADR की इस रिपोर्ट के मुताबिक, डीएलएफ ग्रुप, भारतीय एयरटेल और इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड कंपनी ने भाजपा को सबसे अधिक चंदा दिया। वहीं, कांग्रेस को सीईएटी लिमिटेड और टाटा ग्रुप ने चंदा दिया।

रिपोर्ट के मुताबिक सत्या इलेक्टोरल ट्रस्ट, प्रोग्रेसिव इलेक्टोरल ट्रस्ट, जनप्रगति इलेक्टोरल ट्रस्ट, बजाज इलेक्टोरल ट्रस्ट, ट्राइफ इलेक्टोरल ट्रस्ट, समाज इलेक्टोरल ट्रस्ट ने कुल 177.40 करोड़ (99.92 फीसदी) का चंदा राजनीतिक दलों को दिया। इसमें कुल चंदे का 22.5 फीसदी चंदा इंडियाबुल्स ने सत्या इलेक्ट्रोरल ट्रस्ट को दिया। इसके अलावा सत्या इलेक्ट्रोरल ट्रस्ट को भारती इंफ्राटेल, कलपतरू पावर ट्रांसमीशन, हीरो मोटोकॉर्प ने चंदा दिया।


Advertisement
ADR report

adrindia


Advertisement

सत्या इलेक्ट्रोरल ट्रस्ट ने उसे मिले चंदे का 75.7 फीसदी हिस्सा भाजपा को 18.8 करोड़ रुपए, कांग्रेस और एनसीपी को क्रमशः 5 करोड़ दिया।

आपके विचार


  • Advertisement