अब कोई भी राजनीतिक पार्टी 2 हजार रुपए से अधिक नकद चंदा नहीं ले सकेगी, देना होगा ब्यौरा

author image
Updated on 1 Feb, 2017 at 1:45 pm

Advertisement

वित्त वर्ष 2017-18 के लिए प्रस्तुत आम बजट में सरकार ने पूरा जोर डिजिटल योजना को बढ़ाने में दिया है। इस कड़ी में राजनीतिक पार्टियों पर नकेल कसने का काम सरकार ने किया है।

देश की सभी राजनीतिक पार्टियां अब दो हजार रुपए से अधिक का चंदा कैश में नहीं ले सकेंगी। यानी कि अब 2 हजार रुपए से ज्यादा के चंदे का हिसाब राजनीतिक पार्टियों को देना होगा। बड़ी रकम चैक या दूसरे डिजिटल माध्यम से ही दी जाएगी।

सरकार के इस कदम से राजनीतिक पार्टियों को मिलने वाले बड़े चंदे के स्रोत की जानकारी उपलब्ध होगी। अक्सर राजनितिक दलों को मिलने वाले चंदे पर सवाल उठते रहते हैं। ऐसे में सरकार का यह कदम पारदर्शिता लाने की दिशा में कारगर होगा।


Advertisement

राजनीतिक पार्टियां अधिकतर चंदा कैश में लेती हैं। ऐसे में इस ऐलान के साथ ही राजनीतिक पार्टियों को बड़ा झटका लगा है। अब तक राजीनीतिक पार्टियों को 20 हजार रुपए के कैश चंदे पर हिसाब नहीं देना होता था। लेकिन अब इस घोषणा के साथ ही, राजनीतिक चंदे के लिए बॉन्ड आएगा, बॉन्ड पार्टी के खाते में जाएगा ।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement