एक मामूली सी गलती के लिए पुलिसकर्मी को मंत्री जी के पैर छूकर माफ़ी मांगनी पड़ी

Updated on 22 Oct, 2018 at 6:18 pm

Advertisement

कानपुर के लाजपत भवन में भारतीय जनता युवा मोर्चा की प्रदेश कार्य समिति की बैठक का आयोजन हुआ, जिसमें मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष समेत पूरे प्रदेश से पदाधिकारी शिरकत करने के लिए पहुंचे। प्रदेश कार्य समिति का आयोजन 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव की रणनीति तैयार करने के लिए किया गया था। इस दौरान बैठक में हिस्सा लेने जा रहे मुख्यमंत्री के काफ़िले के साथ ही कैबिनेट मंत्री सतीश महाना की कार भी अंदर जा रही थी।

ठीक इसी समय पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा काफ़िले में शामिल एक गाड़ी केंद्रीय मंत्री सतीश महाना की कार से टकरा गई। इस घटना से बौखलाए सतीश महाना अपनी गाड़ी से उतरकर ड्राइवर पर बरसने लगे। देखते ही देखते मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई और गुस्से में आग बबूला मंत्री जी पुलिस ड्राइवर को खरीखोटी सुनाने लगे।

 

 

इसके बाद नौकरी जाने के डर से घबराया ड्राइवर मंत्री जी के पैर पकड़कर माफ़ी मांगने लगा, लेकिन गुस्से से तिलमिलाए मंत्री जी का इससे भी मन शांत नहीं हुआ।

 

पुलिसकर्मी को डांटते हुए उन्होंने पीछे किया और फिर पैदल ही भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक के लिए अंदर चले गए। जाते-जाते मंत्री जी ने गुस्से में कहा “इनसे कहिए बाद में मुझसे आके मिले।”


Advertisement

 

 

पुलिसकर्मी का इस तरह कैबिनेट मंत्री के पैर छूकर माफ़ी मांगना हर कहीं चर्चा का विषय बन गया है। सोशल मीडिया पर ये वीडियो आते ही तेजी से वायरल हो रहा है। घटना के वीडियो में आप पुलिसकर्मी को कैबिनेट मिनिस्टर सतीश महाना के पैर छूते हुए देख सकते हैं।

जिस पुलिसकर्मी पर मंत्री जी का गुस्सा फूटा, उसका कहना है मुख्यमंत्री की गाड़ी के अंदर जाते ही उसने अपनी गाड़ी आगे बढ़ा दी, इसी दौरान अचानक सतीश महाना की गाड़ी भी सामने आ गई, जिसकी वजह से दोनों गाड़ियों की टक्कर हुई।

 

यहां देखें घटना का पूरा वीडियो:

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement