रेयान इंटरनेशनल की घटना से सबक लेते हुए बच्चों की रक्षा के लिए शुरू की गई ‘पुलिस दीदी’ पहल

author image
Updated on 15 Sep, 2017 at 5:14 pm

Advertisement

गुरुग्राम  के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में 7 साल के प्रद्युम्न की हत्या ने पूरे देश को झकझोर के रख दिया। इस चौंकाने वाली घटना ने स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा पर सवालिया निशान खड़े कर दिए हैं। जिस ज्ञान के मंदिर को सबसे सुरक्षित माना जाता रहा, उसी पर से अब माता पिता का विश्वास डगमगा रहा है। वे अपने बच्चों  की सुरक्षा सुनिश्चित कैसे की जाए इसको लेकर चिंतित हैं। ऐसे में मुंबई पुलिस ने एक पहल की है।

मुंबई पुलिस बच्चों की यौन शोषण हमलों से सुरक्षा करने को लेकर ‘पुलिस-दीदी’ नाम की अपनी पहल को दोबारा लॉन्च कर रही है। इस पहल के तहत महिला पुलिस अधिकारी नाबालिग बच्चों को यौन शोषण से बचने और अलर्ट रहने के तरीके बताएंगी।


Advertisement

पुलिस अधिकारी हर हफ्ते एक स्कूल में एक घंटे के लिए जाएंगे। वहां पहली कक्षा से चौथी कक्षा के बच्चों को ‘गुड टच’ और ‘बैड टच’ के बारे में बताया जाएगा ताकि वह अलर्ट रह सकें।

आपको बता दें कि ‘पुलिस दीदी’ अभियान की शुरुआत मुंबई में एक साल पहले ही कर दी गई थी उस वक्त एक इंटरनैशनल स्कूल के ट्रस्टी और टीचर ने कथित तौर पर एक 3 साल की बच्ची का रेप कर दिया था। उस हादसे के बाद स्कूली बच्चों को यौन शोषण के प्रति जागरुक करने के लिए मुंबई पुलिस ने ‘पुलिस-दीदी’ पहल की शुरुआत की थी। बीच में इस पहल को रोक दिया गया था, लेकिन अब रेयान इंटरनेशनल स्कूल में हुई घटना के बाद, एक बार फिर इसकी शुरुआत कर दी गई है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement