इस मछली को पकाने में हुई ज़रा सी भी चूक, तो धोना पड़ सकता है जान से हाथ

Updated on 10 Jan, 2019 at 5:44 pm

Advertisement

मछली जल की रानी है, जीवन उसका पानी है… ये कविता बचपन में तो हमने खूब सुनी। अभी भी हम बच्चों को ये कविता सिखाते हैं। मछली का जीवन पानी होता है। लेकिन क्या आप ऐसी मछली के बारे में जानते हैं, जिसे पकाने में अगर ज़रा सी भी चूक हो गई तो वो आपके लिए जानलेवा खाना बन सकता है? हम आपको ऐसी मछली के बारे में बताते हैं जिसे खाना आपके लिए जानलेवा हो सकता है। इस फ़िश का नाम है पफ़र फ़िश। इसे जापान में फुगु फ़िश भी कहा जाता है।

 

 


Advertisement

खाने में स्वादिष्ट होती है पफर फ़िश, लेकिन उतनी ही खतरनाक

पफ़र फ़िश खाने में बड़ी ही स्वादिष्ट लगती है। लेकिन आप में से कुछ ही लोग जानते होंगे ये बड़ी ही ज़हरीली होती है। इस ज़हरीली पफ़र फ़िश को खाने से व्यक्ति की मौत भी हो सकती है। इस फ़िश को खासतौर पर ऐहतियात बरतकर पकाया जाता है। इसे पकाने में ज़रा सी भी चूक हो जाती है तो व्यक्ति को अपनी जान से हाथ भी धोना पड़ सकता है।

 

 

इस फ़िश को खाने से एक ही परिवार के 11 लोग हुए लकवाग्रस्त

ऐसी ही एक घटना कुछ दिन पहले ब्राज़ील से सामने आई, जिसमें इस फ़िश को खाते ही एक ही परिवार के 11 लोग लकवाग्रस्त हो गए। इस परिवार को एक फ़ैमिली फ़्रेंड ने ये फ़िश गिफ़्ट में दी थी। परिवार को जानकारी नहीं थी ये फ़िश उनके लिए जानलेवा साबित होगी। पूरे परिवार ने फ़िश पकाकर एक साथ खाई। जैसे ही उन सब ने इस फ़िश को खाया परिवार के पूरे 11 सदस्य लकवाग्रस्त हो गए, जिसके बाद आनन-फानन में परिवार को अस्पताल ले जाया गया।

 



सर्टिफ़ाइड शेफ़ ही बना सकते हैं फुगु फ़िश

ऐसे कई केस जापान से भी सामने आए हैं, क्योंकि इस फ़िश को सबसे ज़्यादा जापान में ही खाया जाता है। जापान में इसे फुगु फ़िश कहा जाता है। वहां पर इस फ़िश को पकाने के लिए एक स्पेशल स्कूल में खास ट्रेनिंग दी जाती है। इस आर्ट को सीखने पर सर्टिफ़िकेट लेने वाले शेफ़ को ही इसे बनाने की इजाज़त होती है। इस स्कूल में इस मछली को सही तरीके से काटने की ट्रेनिंग दी जाती है। अगर मछली को गलत तरीके से काटा गया तो इसे खाने वाले व्यक्ति की मौत हो सकती है।

 

 

क्यों है जानलेवा?

पफ़र फ़िश में टैट्रोडोटॉक्सीन नामक जानलेवा ज़हर पाया जाता है। ये ज़हर साईनाइड से 1200 गुना ज़्यादा ज़हरीला होता है। इस ज़हर की एक बूंद से 24 घंटे के अंदर ही किसी व्यक्ति की मौत हो सकती है। एक वयस्क पफ़र फ़िश में मौजूद ज़हर की मात्रा 30 लोगों की जान लेने के लिए काफ़ी होती है।

 

 

पफ़र फ़िश में है ये ख़ासियत भी

ये फ़िश भले ही जानलेवा हो, लेकिन इसमें एक ख़ासियत भी है जो इसे बाकी फ़िश से अलग करती है। ये एक ऐसी फ़िश है जिसे पानी से बाहर निकालने पर भी ये कई घंटों तक ज़िंदा रह सकती है। इस फ़िश को पानी से बाहर निकालने पर ये एक बॉल के आकार की हो जाती है। ये फ़िश अपने अंदर इतना पानी भर लेती है जिससे इसका शेप बॉल की तरह हो जाता है। ऐसा कहा जाता है पानी से बाहर निकालने पर खुद को बचाने के लिए ये फ़िश खुद को बॉल की तरह बना लेती है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement