Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

क्या प्रधानमंत्री मोदी वाकई में फकीर हैं? जानिए कितनी है संपत्ति

Published on 5 December, 2016 at 11:04 am By

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में मुरादाबाद में आयोजित परिवर्तन रैली के दौरान नोटबंदी का मुद्दा उठाते हुए एक बार फिर भ्रष्टाचार पर जमकर बिफरे। उन्होने रैली को संबोधित करते हुए कहाः 


Advertisement

‘‘हिन्दुस्तान की पाई-पाई पर अगर किसी का अधिकार है तो सवा सौ करोड़ देशवासियों का है। मैं आपके लिए लड़ाई लड़ रहा हूं। ज्यादा से ज्यादा (विरोधी) मेरा क्या कर लेंगे? हम तो फकीर आदमी हैं, झोला लेकर चल पड़ेंगे। ये फकीरी है, जिसने मुझे गरीबों के लिए लड़ने की ताकत दी है।’’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटेबंदी के मुद्दे पर विपक्ष द्वारा किए जा रहे विरोध के बाबत कुछ सवाल जनता से पूछते हुए कहाः

‘‘अगर कोई ये काम करता है तो वह गुनाहगार है क्या? कोई भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ता है, तो गुनाहगार है क्या? मैं हैरान हूं कि आजकल मेरे ही देश में कुछ लोग मुझे गुनाहगार कह रहे हैं। क्या मेरा यही गुनाह है कि भ्रष्टाचार के दिन पूरे होते जा रहे हैं? क्या यही मेरा गुनाह है कि गरीबों का हक छीनने वालों को अब हिसाब देना पड़ रहा है?’’

ये बातें प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी के मुद्दे पर कही है। सवाल ये है कि क्या वाकई में हमारे देश के प्रधानमंत्री फकीर हैं? आइए जानते हैं कितनी है हमारे देश के प्रधानमंत्री की संपत्ति।

बिजनेस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2014-2015 से मोदी की संपत्ति में 22.6 प्रतिशत का इज़ाफा हुआ है। पिछले एक साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संपत्ति में 32 लाख 22 हजार रुपए की बढ़ोतरी हुई है। अभी उनकी कुल संपत्ति 1 करोड़ 73 लाख रुपए रुपए के बराबर है, जो पिछले 2014-2015के वित्तीय वर्ष में 1 करोड़ 41 लाख के बराबर थी।



वहीं, आकड़ों के मुताबिक 2014-15 में मोदी के पास 4,700 रुपए कैश था, जो कि इस साल बढ़कर 89,700 रुपए हो गया है। इसमें भी 19 गुना इजाफा हुआ। इसके अलावा मोदी को 12.35 लाख रुपए की रॉयल्टी भी मिलने लगी है। यह सभी आंकड़े पीएमओ की वेबसाइट पर भी उपलब्ध हैं।

पीएम मोदी को अपने किताबों पर मिलती है रॉयल्टी

उपलब्ध जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी को पिछले वर्ष तक कोई रॉयल्टी नही मिलती थी। लेकिन 2015-16 में उन्हें अपनी किताबों पर रॉयल्टी मिलने लगी है। ये किताबें पीएम ने खुद लिखी हैं, जिससे 12.35 लाख रुपए रॉयल्टी आती है। पीएम मोदी की ये किताबें हिंदी, गुजराती और अंग्रेजी में छपती हैं।

पीएम मोदी के फकीर वाले बयान पर सोशल मीडिया पर लोगों ने ली चुटकी


Advertisement

पीएम मोदी की मुरादाबाद रैली में दिए गए भाषण के बाद ट्वीटर और अन्य सोशल मीडिया प्लॅटफॉर्म पर यूजर्स ने खूब मज़े लिए। एक यूजर्स ने ट्वीट कर तंज़ कसा कि ‘भगवान कृष्ण के दिए विमान से उतरते सुदामा।’ तो किसी ने चुनाव प्रचार के समय मोदी का हेलीकॉप्टर से हाथ हिलाते हुए उनकी फोटो शेयर करते हुए लिखा, ‘अपनी बैलगाड़ी में सवार होकर गांव की ओर जाता एक गरीब फकीर’।

वहीं, समर्थक भी पीछे न रहते हुए पीएम मोदी का विरोध करने वालों से पूछ डाला  कि ‘तुमसे ना हो पाएगा वामपंथियों। जरा बताओ तो कितनी जमीन या फ्लैट हैं इनके नाम। कितने का बैंक बैलेंस? ये फकीरी तुम क्या जानो।’


Advertisement

खैर इतना जो ज़रूर है पीएम मोदी के भाषण का असर हर कहीं ज़रूर पड़ता है।

Advertisement

नई कहानियां

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग


Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Politics

नेट पर पॉप्युलर