इस 8 दिन की बच्ची के लिए रक्षक बने PM, माता-पिता ने कहा- हमारे लिए फरिश्ता बन आए मोदी

author image
9:36 pm 6 Mar, 2017

Advertisement

एक आठ दिन की नन्हीं बच्ची के लिए प्रधानमंत्री मोदी फरिश्ता बनकर आए। किडनी की गंभीर बिमारी से ग्रसित इस बच्ची को असम के डिब्रूगढ़ से दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में शनिवार को भर्ती कराया जाना था, लेकिन दिल्ली की सड़कों पर शाम के वक्त इतना ट्रैफिक होता है कि सही समय रहते बच्ची को अस्पताल पहुंचाना मुश्किल था।

baby

अंग्रेजी अखबार मेल टुडे के मुताबिक, बच्ची के पिता ध्रुबज्योति कलिता ने बताया कि किडनी की गंभीर समस्या से जूझ रही उनकी आठ दिन की बेटी की जान बचाने के लिए डिब्रूगंज के डॉक्टरों ने बच्ची को एयर ऐंबुलेंस से दिल्ली भेजने का निर्णय लिया। बच्ची को लेकर एयर एबुलेंस को दिल्ली में शाम सात बजे पहुंचना था। दिल्ली में इस वक्त का समय ट्रैफिक के लिहाज से काफी व्यस्त होता है। ऐसे में कुछ घंटों में बच्ची को अस्पताल पहुंचाना किसी चुनौती से कम नहीं था।

इस मुश्किल घड़ी में मदद के लिए ध्रुबज्योति ने दिल्ली पुलिस में तैनात उन आईपीएस अफसरों से भी बात की थी जो नॉर्थ ईस्ट से आते हैं। तभी इस मामले की सूचना प्रधानमंत्री कार्यालय तक भी पहुंची।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दखल के बाद बच्ची को अस्पताल पहुंचाने के लिए सड़कें ट्रैफिक फ्री करवाई गईं।


Advertisement

इस तरह से प्रधानमंत्री द्वारा सही वक्त रहते किए गए हस्तक्षेप की वजह से बचाव दल को दिल्ली हवाई अड्डे से गंगाराम अस्पताल तक ट्रैफिक फ्री पैसेज मिल पाया। बच्ची समय रहते अस्पताल पहुंच गई। अस्पताल पहुंचने के बाद बच्ची के माता-पिता ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और दिल्ली पुलिस का एहसान वो जीवनभर याद रखेंगे।

ध्रुबज्योति ने आगे कहा कि पीएम मोदी उनके लिए भगवान के रूप में सामने आए हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement