PM मोदी की ये गाड़ी पंचर होने के बावजूद भी 90Km की स्पीड से दौड़ सकती है

Updated on 16 Apr, 2018 at 11:31 pm

Advertisement

भारत दुनियाभर में एक उभरती शक्ति के रूप में सामने आ रहा है। लिहाजा प्रधानमंत्री की सुविधा और सुरक्षा बेहद चुस्त-दुरुस्त होना भी जरूरी है। पीएम नरेन्द्र मोदी छत्तीसगढ़ दौरे से लौटे हैं, जहां उन्होंने कई जनोपयोगी योजनाओं की शुरुआत की। उनकी सभाओं में जबरदस्त भीड़ रहती है, लेकिन एक भीड़ जो उनके साथ चलती है, वो सुरक्षा जवानों की रहती है।

 

छत्तीसगढ़ दौरे की बात करें तो पीएम की सुरक्षा में 20 हजार जवान तैनात थे। उनके लिए अमूमन ऐसी ही सुरक्षा रखी जाती है। बता दें कि स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप के जवान पीएम की सुरक्षा में दिन-रात लगे होते हैं। इनमें शूटर भी होते हैं, जो सेकेंड्स में एक्शन लेते हैं। ये प्रधानमंत्री की सुरक्षा के साथ-साथ पूर्व प्रधानमंत्री व उनके परिवार को सुरक्षा देते हैं।


Advertisement

 

 

वहीं एसपीजी के जवान एफएनएफ-2000 असॉल्ट राइफल, ऑटोमैटिक गन व 17एम रिवॉल्वर्स के साथ कई आधुनिक हथियारों से लैस होते हैं। लगभग 500 जवान उनके आवास की सुरक्षा में तत्पर रहते हैं। दिल्ली पुलिस भी उनकी सुरक्षा में अहम भूमिका अदा करती है। पीएम के दौरों की जगहों को एसपीजी के जवान पहले ही अपने नियंत्रण में ले लेते हैं और सुरक्षा को सुनिश्चित करते हैं।

 

प्रधानमंत्री जब सड़क पर चलते हैं तो 10 मिनट पहले ही ट्रैफिक को खाली कर दिया जाता है। वहीं, नरेन्द्र मोदी के काफिले में 2 आर्मर्ड बीएमडब्लूय 7 सीरीज सेडान के साथ-साथ 6 बीएम बीएमडब्लूय एक्स 5 और 1 मर्सिडीज बेंज एम्बुलेंस भी होती है।



 

काफिले में एक दर्जन से अधिक गाड़ियां चलती हैं, जिसमें टाटा सफारी जैमर भी शामिल है। जानकारी हो कि पीएम बीएमडब्लूय 760Li में चलते हैं, जो एक बुलेटप्रूफ कार है।

 

दिलचस्प बात यह है कि चाक-चौबंद सुरक्षा वाली पीएम की कार पंचर होकर भी 90 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से 320 किमी तक चल सकती है। इस कार का वजन कम होता है। यही कारण है कि यह जल्द गति पकड़ लेती है।

 

 

इस कार पर अगर अचानक हमला होता है तो इस कार का कुछ नहीं बिगड़ने वाला, लिहाजा इसके अन्दर बैठा शख्स सुरक्षित होता है।

 

कार पर आधुनिक हथियारों से लेकर ग्रेनेड का कोई असर नहीं होता। इस कार को ऐसे सेंसरों से लैस किया गया है जो किसी मिसाइल या बम का पता लगाने में सक्षम हैं।

 

indiatimes


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement