शहरीकरण को हम संकट नहीं, बल्कि अवसर समझेंः पीएम मोदी

author image
Updated on 25 Jun, 2016 at 8:22 pm

Advertisement

देश के 20 स्मार्ट शहरों में विभिन्न योजनाओं का कार्यान्वयन शनिवार से शुरू हो गया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पुणे में 14 परियोजनाओं की शुरुआत की, जबकि देश के अन्य हिस्सों में 68 परियोजनाओं पर काम होगा।

इन पर कुल 1770 करोड़ रुपए की लागत आने की संभावना है।

इस अवसर पर लोगों को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि शहरीकरण को संकट नहीं, बल्कि अवसर समझना चाहिए। पीएम मोदी ने कहा कि देश की जनता सबसे अधिक स्मार्ट है।

उन्होंने कहा कि यह निर्णय दिल्ली में नहीं हो सकता कि पुणे कैसा बने या भुवनेश्वर कैसा बने। अब लोग कुछ पाना नहीं कुछ करना चाहते हैं। पीएम ने कहा कि स्मार्ट सिटी का कान्सेप्ट सिर्फ किस काम के लिए कितने पैसे दिए जाएंगे वह नहीं है, बल्कि यह जनांदोलन है। यह बीते हुए कल के अनुभव पर उज्ज्वल भविष्य का एक प्रयोग है।


Advertisement

हमारे देश में ऐसा तो नहीं है कि पहले कोई काम नहीं होता था। ऐसा भी नहीं है कि सरकारें बजट नहीं खर्च करती थीं।

इस अवसर पर पीएम मोदी ने ‘मेक योर सिटी स्मार्ट’ प्रतियोगिता का भी उद्घाटन किया, जिसका मकसद स्मार्ट शहरों को आकार देने में नागरिकों को शामिल करना है। कहा गया है कि नागरिकों द्वारा दिए गए सुझावों और डिजायनों को संबंधित स्मार्ट शहर में शामिल किया जाएगा।

नागरिक सड़क, जंक्शन व पार्क के लिए डिजाइन बनाकर शेयर कर सकते हैं। इसके विजेताओं को 10 हजार से एक लाख तक की राशि देकर पुरस्कृत भी किया जाएगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement