क्या आप जानते हैं PM मोदी की फिटनेस का राज, सुबह से शाम तक ये है डेली रुटीन

Updated on 14 Apr, 2018 at 4:08 pm

Advertisement

भारतीय राजनीति में अपना दबदबा कायम कर चुके प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर कुछ दिनों पहले विश्लेषकों ने कहा था कि वो 2029 तक पीएम बने रह सकते हैं। ऐसा कहना गलत भी नहीं है क्योंकि राजनीति के केंद्र में आज मोदी का ही वर्चस्व नजर आ रहा है। वहीं राजनीति से इतर आम जनता के बीच भी मोदी की खुमारी छाई हुई है। उनके स्टाइल को हर कोई फॉलो करना चाहता है।

जाहिर है कि एक चाय बेचने वाले से लेकर दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के मुखिया बनने का ये सफर आसान नहीं रहा होगा। अपने राजनीतिक जीवन में कई उतार-चढ़ाव देख चुके मोदी आज देश ही नहीं, बल्कि विदेशों में भी काफी लोकप्रिय हो चुके हैं।

 

लेकिन 67 साल की उम्र में भी आखिर पीएम मोदी में इतनी उर्जा कहां से आती है। हर कोई जानना चाहता है कि इस उम्र में भी वो खुद को खैसे फिट रखते हैं। तो चलिए आज आपको बताते है कि मोदी के स्वास्थ्य का सीक्रेट मंत्र क्या है।

 

 

पीएम मोदी ने अपने जीवन में कुछ नीयम बना रखें हैं, जिनका वो सख्ती से पालन करते हैं। मोदी कभी भी अपने डेली रुटीन को बिगड़ने नहीं देते।

 

पीएम मोदी का डेली रुटीन


Advertisement

 

मोदी हर रोज 4 से 5 बजे उठ जाते हैं। सुबह उठकर वह नियमित रुप से प्राणायाम और योग करते हैं। इसके बाद कुछ देर टहलना भी उनके डेली रुटीन में शामिल है। वह सुबह उठकर हल्‍का नाश्‍ता करते हैं।

 

संतुलित आहार

 

मोदी शाकाहारी है, लिहाजा खाने में उन्हें उनकी पसंद के शाकाहारी व्यंजन ही परोसे जाते हैं। मोदी तले हुए भोजन से परहेज करते हैं। उनको गुजराती और दक्षिण भारतीय खाना पसंद है। इसके अतिरिक्त वो अधिक मिर्च मसाले वाले खाने का सेवन नहीं करते। पीएम मोदी एक साथ बहुत सारा खाना नहीं खाते, बल्कि वेह कुछ समय के अंतराल पर थोड़ा-थोड़ा खाना खाते हैं। मोदी कई वर्षो  से ठंडा पानी नहीं पी रहे। वह दिन में कई बार गुनगुना पानी पीते हैं।

उपवास 

 

बीते कई सालों से पीएम मोदी नवरात्रों का 9 दिनों का उपवास रख रहें हैं। इसके साथ ही वह कई प्रकार के मासिक और साप्ताहिक उपवास भी रखते हैं। इस दौरान वह दिन में केवल नींबू पानी ही पीते हैं। बता दें कि अपने कार्यकाल के दौरान मोदी एक बार भी बीमार नहीं पड़े।

मेडिटेशन

 

शारीरिक व्यायाम के साथ-साथ काम में एकाग्रता बढ़ाने और सोच को सकारात्मक रखने के लिए मोदी हर रोज मेडिटेशन करते हैं। इससे उन्हें काम में मन लगा पाने में सहायता मिलती है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement