कविमना पीएम मोदी ने संस्कृत के श्लोक, कविताओं से ली कांग्रेस की चुटकी

author image
Updated on 7 Feb, 2017 at 6:51 pm

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण के चर्चा के दौरान संस्कृत के श्लोकों और कविताओं का उद्धरण देते हुए कांग्रेस पार्टी की जमकर खबर ली

प्रधानमंत्री को यह आभास है कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों के मद्देनजर हिन्दी पट्टी के लोग उन पर नजर गड़ाए हुए हैं। यही वजह है कि लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर चर्चा के दौरान वह इस अवसर को हाथ से नहीं जाने देना चाहते थे। विपक्ष को जवाब देने के लिए इस अवसर पर उन्होंने न केवल संस्कृत के श्लोकों का इस्तेमाल किया, बल्कि लोकप्रिय हास्यकवि काका हाथरसी की कविताओं के उद्धरण भी पढ़े। यहां कविमना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा संसद में पढ़े गए पांच संस्कृत श्लोक व काव्य पंक्तियां कुछ इस तरह हैं।

1. अच्छी योजना से जरूरी है कड़ी मेहनत

2. योजनाएं पुरानी थीं, लेकिन बेहतर तरीके से क्रियान्वयन

3. पुरानी सरकारों ने कभी भविष्य के बारे में नहीं सोचा


Advertisement

4. नीयत में खोट थी

5. अच्छाई और बुराई में से आपने बुराई चुनी

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement