PM मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन, बोले- “देश बना ऐतिहासिक शुद्धिकरण का गवाह”

author image
Updated on 31 Dec, 2016 at 9:20 pm

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नए साल की पूर्व संध्या पर नोटबंदी को लेकर राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा है कि देश के सवा सौ करोड़ नागरिक नए संकल्प, नए जोश के साथ नए साल का स्वागत करेंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि दीपावली के बाद देश ऐतिहासिक शुद्धि यज्ञ का गवाह बना। लोगों ने धैर्य से काम लिया। उन्होंने सच्चाई और अच्छाई का साथ दिया। लोगों ने उज्ज्वल भविष्य के लिए लड़ाई लड़ी।

pm_650x400_41483193008

नोटबंदी के फैसले की तारीफ करते हुए पीएम ने कहा कि हिंदुस्तान ने जो करके दिखाया है, ऐसा विश्व में तुलना करने के लिए कोई उदाहरण नहीं।


Advertisement

पीएम मोदी ने कहा –

“इन दिनों करोड़ों देशवासियों ने जिस धैर्य, अनुशासन अौर संकल्प शक्ति के दर्शन कराए हैं, अगर आज लाल बहादुर शास्त्री, जयप्रकाश नारायण, राम मनोहर लोहिया या कामराज होते तो देश को अाशीर्वाद देते। ये देश के लिए शुभ संकेत हैं कि नागरिक मुख्यधारा में वापस आना चाहते हैं। लोगों ने कानून का पालन किया है। ये अप्रत्याशित है और सरकार इसका स्वागत करती है।”

पीएम मोदी ने कहा कि बड़े नोट से केवल महंगाई और कालाधन बढ़ रहा था। बड़े नोट गरीबों का हक छीन रहा था। उन्होंने कहा कि कैश अगर अर्थव्यवस्था के साथ हो तो देश का विकास होता है लेकिन देश में वैसा नहीं हो रहा था। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि हम सच्चाई से कब तक मुंह मोड़ते रहेंगे।

पीएम मोदी ने इससे पहले 8 नवंबर को देश को संबोधित किया था, जब उन्होंने देश से भ्रष्टाचार और काले धन को खत्म करने के लिए 500 और 1,000 रुपये के पुराने नोट बंद किए जाने की घोषणा की थी।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement