Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

भारत की इन जगहों पर रावण दहन नहीं, होती है दशानन की पूजा

Published on 19 October, 2018 at 1:00 pm By

विजयदशमी के दिन देशभर में जगह-जगह बुराई के प्रतीक रावण का पुतला बनाकर जलाया जाता है, लेकिन हमारे ही देश में कुछ जगहें ऐसी भी हैं जहां रावण को जलाया नहीं जाता, बल्कि उसकी पूजा की जाती है। इस बात में कोई दोराय नहीं है रावण महाज्ञानी ब्राह्मण था, लेकिन अहंकार की वजह से उसका सर्वनाश हो गया। दशहरे के दिन ही श्रीराम ने रावण का वध किया था, इसलिए इस दिन को बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है। चलिए, हम आपको बताते हैं किन जगहों पर रावण को राक्षस नहीं, बल्कि भगवान की तरह पूजा जाता है।


Advertisement

 

 

उज्जैन

मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले के चिखली गांव में भी रावण का पुतला नहीं जलाया जाता, बल्कि रावण को पूजा जाता हैं। यहां लोगों का मानना है रावण की पूजा नहीं करने पर पूरा गांव जलकर राख हो जाएगा।

 

मंदसौर

मध्यप्रदेश के ही एक और जिले मंदसौर में भी रावण को पूजा जाता है। कहा जाता है मंदसौर का असली नाम दशपुर था और ये रावण की धर्मपत्नी मंदोदरी का मायका था। मंदसौर रावण का ससुराल था इसलिए यहां दामाद की तरह रावण का आदर सत्कार और पूजा होती है।

बिसरख

उत्तर प्रदेश के एक गांव बिसरख में रावण का मंदिर बना हुआ है और लोग उसकी पूजा करते हैं। कहा जाता है ये गांव रावण का ननिहल था।


Advertisement

 

बैद्नाथ

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के बैद्नाथ कस्बे में भी रावण की पूजा की जाती है। मान्यता है रावण ने यहां पर भगवान शिव की तपस्या की थी, जिससे प्रसन्न होकर भगवान शिव ने उसे मोक्ष का वरदान दिया था।

अमरावती



महाराष्ट्र के अमरावती जिले के गढ़चिरौली नामक जगह पर आदिवासी समुदाय रावण की पूजा करते हैं। ये लोग रावण और उसके बेटे को अपना भगवान मानते हैं। इसलिए यहां रावण दहन नहीं होता है।

 

काकिनाड

आंध्रप्रदेश की इस जगह पर भी रावण का मंदिर बना हुआ है। यहां भगवान शिव के साथ रावण की भी पूजा की जाती है।

 

जोधपुर

रावण का एक मंदिर राजस्थान के इस ऐतिहासिक शहर में भी बना हुआ है। यहां एक खास समुदाय के लोग रावण को पूजते हैं और खुद को उसका वंशज मानते हैं।

 

मालवल्ली

ये कर्नाटक के मंडया जिले का एक तालुका है जहां रावण का मंदिर बना हुआ है और लोग एक शिवभक्त के रूप में उसकी पूजा करते हैं।

 

जसवंतनगर


Advertisement

उत्तर प्रदेश की इस जगह पर दशहरे के दिन रावण की आरती उतार कर पूजा की जाती है। उसके बाद रावण के टुकड़े कर दिए जाते हैं और तेरहवें दिन उसकी तेरहवीं भी की जाती है।

Advertisement

नई कहानियां

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं

Hindi Comedy Movies: बॉलीवुड की ये सदाबहार कॉमेडी फ़िल्में, आज भी लोगों को गुदगुदाने का माद्दा रखती हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें Culture

नेट पर पॉप्युलर