अमृतसर रेल हादसे में रावण का किरदार निभाने वाले इस युवक ने अपनी जान पर खेलकर बचाई कई लोगों की जान

4:06 pm 21 Oct, 2018

Advertisement

अमृतसर रेल हादसे से कुछ ही देर पहले शहर में लोग बड़ी ही धूमधाम से विजयदशमी का त्योहार मना रहे थे। अमृतसर के जोड़ा फाटक इलाके में रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन किया जा रहा था कि तभी कुछ ऐसा हुआ जिसने एक खुशनुमा माहौल को शोक में बदल दिया।। रावण दहन होते ही पटाखों की आवाज़ तेज हो गई, जिसके बाद आग की लपटें भी दूर तक दिखाई देने लगी। इस बीच बहुत से लोग जलते रावण को देखने के लिए पास के रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए। उसके बाद जो हुआ वो किसी से छिपा नहीं है।

 

 

रावण दहन देख रहे बहुत से लोगों को अमृतसर से पठानकोट जा रही ट्रेन ने अपनी चपेट में ले लिया। इसके बाद जान बचाने के लिए भाग रहे लोग दूसरी पटरी पर आ रही ट्रेन की चपेट में आ गए। इस तरह अमृतसर हादसे में लोगों को दो ट्रेनों ने अपना निशाना बना लिया।

 

 

इस हादसे में रावण दहन देख रहे बहुत से लोगों के अलावा खुद रावण का किरदार निभाने वाले दलबीर सिंह भी आ गए। उनकी जान मौके पर मौजूद लोगों की जान बचाते-बचाते गई।

 


Advertisement

 

घटना से कुछ समय पहले दलबीर रामलीला खत्म कर अपने घर लौट रहे थे। अमृतसर के जोड़ा फाटक से गुजरते हुए जब वो रेलवे ट्रैक के पास पहुंचे तो उन्होंने ट्रेन के आने की आवाज सुनी। इसके बाद उन्होंने घर जाने के बजाए लोगों को रेलवे ट्रैक से हटाना शुरु कर दिया। इस बीच लोगों को ट्रैक से हटाते-हटाते वो खुद ट्रेन की चपेट में आ गए।

 

 

सुबह जब दलबीर के भाई बलबीर उन्हें तलाशने के लिए रेलवे ट्रैेक पर पहुंचे तो उन्हें पता चला कि उनका भाई दलबीर भी इस हादसे का शिकार हो गया है।

दलबीर हर साल रामलीला में राम का किरदार निभाते थे, लेकिन इस बार दोस्तों के आग्रह करने पर उन्होंने रावण का किरदार निभाया। दलबीर अपने पीछे, एक विधवा मां, पत्नी और एक 8 महीने की बेटी छोड़ गए है। दलबीर के परिवार के लिए शायद इस नुकसान की भरपाई कभी नहीं हो सकेगी। हमारी संवेदना इस परिवार के साथ है।

 

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement