किसी भी हाल में पुराने 500 और 1000 के नोट से छुटकारा पाना चाहते हैं लोग, ये रहा सबूत

author image
Updated on 11 Nov, 2016 at 2:31 pm

Advertisement

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देश में व्याप्त भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस दिशा में बड़ा कदम उठाते हुए केन्द्र सरकार ने 500 और 1000 रुपए के पुराने करेन्सी नोट्स को प्रतिबंधित कर दिया है।

इस वजह से उन लोगों की रातों की नीन्द हराम हो गई है, जिन्होंने इन नोटों की शक्ल में अपने घर-दफ्तरों में काला धन जमा कर रखा था।

कालाधन रखने वालों को इतनी मोहलत नहीं दी गई है कि वे इस धन को सफेद कर सकें। यही वजह है कि अफरातफरी का माहौल है। आलम यह है कि भ्रष्टाचारी किसी भी हालत में पुराने बड़े नोटों से छुटकारा पाना चाहते हैं।

देश में इससे संंबंधित अलग-अलग समाचार सुनने-देखने को मिल रहे हैं। बरेली जैसे शहर में जहां बोरे भरे रुपयों में आग लगाए जाने की खबर है, वहीं महाराष्ट्र में कचरे ढेरों पर ढेर सारे रुपए मिल रहे हैं।


Advertisement

एक नजर इस ट्वीट पर।

यह तो हद पागलपन है! लेकिन कालाधन रखने वाले करें और तो और क्या करें। मोदी सरकार ने उनके लिए कोई रास्ता जो नहीं छोड़ा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement