Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

महिला सुरक्षा के लिए बसों में लगा पैनिक बटन, मिलेगी तुरंत मदद

Updated on 10 July, 2016 at 12:34 pm By

16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली में फिजियोथेरेपी की छात्रा के साथ बस में सामूहिक दुष्कर्म कांड ने पूरे देश को झकझोर के रख दिया था। इस घटना ने देश में महिला सुरक्षा के मुद्दे पर एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया था।


Advertisement

इससे सबक लेते हुए, अब भारत सरकार सार्वजनिक बसों में छेड़छाड़ की घटनाओं को रोकने के मकसद से विशेष प्रावधान करने जा रही है। इसकी शुरुआत भी कर दी गई है।

बसों में महिलाओं से होने वाली छेड़छाड़ को रोकने के लिए पैनिक बटन लगाने की शुरुआत राजस्थान में की गई है। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम देश का ऐसा प्रथम निगम बन गया है, जिसकी बसों में महिलाओं से छेड़छाड़ करने वाले लोग तुरंत पकड़े जा सकेंगे। इस बस का नाम महिला गौरव एक्सप्रेस रखा गया है।

ऐसे करेगा काम

  • लाल रंग का यह पैनिक बटन बस में ड्राइवर की सीट के ठीक पीछे दिया गया है।
  • किसी भी तरह का खतरा महसूस होने पर कोई भी महिला इसे दबा सकेगी।
  • इस बटन को व्हीकल ट्रैकिंग सिस्टम से जोड़ा गया है। बटन दबते ही, एक मैसेज रोडवेज के डिपो मैनेजर और जयपुर हेडक्वॉर्टर के कंट्रोल रूम को चले जाएगा।
  • इस मैसेज में गाड़ी का नंबर, उसकी लोकेशन और पैनिक बटन प्रेस करने का समय होगा।
  • बस में लगे स्टिल कैमरे हर 15 मिनट में जयपुर हेडक्वॉर्टर के कंट्रोल रूम को बस की तस्वीरें भेजते रहेंगे।
  • लोकेशन को ट्रेस कर, उसके नजदीकी डिपो के मैनेजर को मैसेज कर सूचित किया जाएगा कि किस बस में परेशानी है।
  • जिसके बाद मदद मुहैया कराने के मकसद से तुरंत ही फ्लाइंग स्कवॉड बस की लोकेशन की तरफ रवाना होगी।
  • अगर आरोपियों को पहली नजर में दोषी पाया गया तो उन्हें करीब के थाने ले जाकर उनके खिलाफ कारवाई की जाएगी।

 

यह सुविधा फिलहाल 10 डीलक्स और 10 सुपर डीलक्स, लंबे रूट की बसों में शुरू की गई है। ये बसें ओवरनाइट चलने वाली हैं।



पैनिक बटन युक्त बसों की प्रायोगिक योजना का शुभारंभ बीकानेर हाउस में केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने किया। इस मौके पर महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी, राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ललिता कुमारमंगलम भी मौजूद थीं।

Gadkari

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के साथ राजस्थान के परिवहन मंत्री यूनुस खान और मेनका गांधी indianexpress

गडकरी ने कहा कि अब हर नई बस में इस तरह की सुविधाएं दी जाएगी। पूरे देश में सभी सार्वजनिक परिवहन बसों में ऐसे उपकरण लगाने के संबंध में एक अधिसूचना 2 जून को जारी होगी।

“हम निर्माण के स्तर पर ही बसों में पैनिक बटन, सीसीटीवी कैमरा और अन्य उपकरण लगाने को लेकर आशान्वित हैं। मंत्रालय ने इसी महीने इसके बारे में मोटर वाहन अधिनियम के तहत मसौदा नियम जारी किए और वाहन निर्माताओं समेत विभिन्न पक्षकारों से राय मांगी थी।प्रस्तावित अधिसूचना के तहत 23 यात्रियों की क्षमता वाले परिवहन वाहन में अनिवार्य रूप से सीसीटीवी कैमरा लगा होना चाहिए और इसे ग्लोबल पोजिशनिंग प्रणाली से लैस होना चाहिए और इसकी निगरानी स्थानीय पुलिस नियंत्रण कक्ष से हो।”


Advertisement

वहीं, राजस्थान के परिवहन मंत्री यूनुस खान का कहना है कि यह प्रयोग सफल होने के बाद रोडवेज की सभी बसों में यह सिस्टम लगाया जाएगा। आगे उन्होंने बताया कि इस अहम परियोजना को भविष्य में महिला सुरक्षा हैल्पलाइन से भी जोड़ने की योजना बनाई जा रही है।

Advertisement

नई कहानियां

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए

क्रिएटीविटी की इंतहा हैं ये फ़ोटोज़, देखकर सिर चकरा जाए


G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!

G-spot को भूल जाइए, ऑर्गेज़्म के लिए अब फ़ोकस करिए A-spot पर!


Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा

Eva Ekeblad: जिनकी आलू से की गई अनोखी खोज ने, कई लोगों का पेट भरा


Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी

Charles Macintosh ने किया था रेनकोट का आविष्कार, कभी किया करते थे क्लर्क की नौकरी


जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़

जानिए क्या है Google’s Birthday Surprise Spinner, बच्चों से लेकर बड़ों में है इसका क्रेज़


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर