स्पॉट फिक्सिंग मामले में फंसा एक और पाकिस्तानी क्रिकेटर, लग सकता है प्रतिबंध

Updated on 16 May, 2018 at 10:24 am

Advertisement

पाकिस्तान सुपर लीग में अब तक स्पॉट फिक्सिंग मामले में कई पाकिस्तानी क्रिकेटर्स के नाम उछल चुके हैं, लेकिन इससे पहले चर्चा में रहे मामलों में दोषी क्रिकेटर्स के खिलाफ कोई निर्णायक कार्रवाई नहीं होने से पाकिस्तान में मैच फिक्सिंग का जाल दिन-ब-दिन फैलता जा रहा है।

 

 

हाल ही में पाकिस्तान में मैच फिक्सिंग के एक और ताजा मामले ने सनसनी मचा दी है। ताजा मामले में पाकिस्तान क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज नासिर जमशेद का नाम सामने आया है। स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण में जांचकर्ताओं के साथ सहयोग नहीं करने पर जमशेद पर एक साल का प्रतिबंध लगाया गया है।

 


Advertisement

 

जमशेद पर खिलाड़ियों और सट्टेबाजों के बीच सहयोग कराने का आरोप है। स्पॉट फिक्सिंग मामले में नासिर के खिलाफ एक आरोप पत्र भी दायर किया गया है, जिसमें नासिर पर 6 आरोप लगाए गए है। इस मामले में नासिर को 18 मई तक जवाब देना है। निर्धारित तिथि तक जवाब न देने की सूरत में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड नासिर पर आजीवन प्रतिबंध भी लगा सकता है। अगर नासिर का कोई जवाब नहीं आता है तो 3 सदसीय पंचाट इस मामले में अपना फैसला सुनाने के लिए स्वतंत्र है।

 

 

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने अपनी जांच में जमशेद को पीएसएल में फिक्सिंग का मुख्य आरोपी पाया है। इससे पहले बीती फरवरी को ब्रिटेन की नेशनल क्राइम एजेंसी ने स्पॉट फिक्सिंग के आरोप सामने आने के बाद जमशेद को गिरफ्तार किया था। वहीं, जमशेद का कहना है कि उस पर लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं। पाकिस्तान सुपर लीग में स्पॉट फिक्सिंग मामले में इससे पहले शरजील खान, खालिद लतीफ और मोहम्मद इरफान का नाम सामने आ चुका है।

पाकिस्तान के  28 वर्षीय बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज नासिर जमशेद ने अपने करियर में 2 टेस्ट मैच, 48 एकदिवसीय और 18 टी-20 मैच खेले हैं।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement