पाकिस्तान में वैलेन्टाइन डे मनाने पर प्रतिबंध, कोर्ट ने सार्वजनिक जगहों पर जश्न पर लगाई पाबंदी

author image
Updated on 13 Feb, 2017 at 7:55 pm

Advertisement

पाकिस्तान में वैलेन्टाइन डे मनाने पर प्रतिबंध लगा दी गई है। इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने एक सुनवाई के दौरान आदेश दिया है कि देश में वैलेन्टाइन डे नहीं मनाया जाएगा। कोर्ट ने कहा है कि सार्वजनिक स्थानों पर जश्न पर पाबंदी लगाई जाए। साथ ही कोर्ट ने कहा है कि प्रिन्ट तथा इलेक्ट्रॉनिक मीडिया वैलेन्टाइन डे के प्रचार-प्रसार से दूर रहें।

कोर्ट ने यह फैसला एक आम नागरिक अब्दुल वाहिद द्वारा दायर याचिका पर दिया है। वाहिद ने अपनी याचिका में कहा था कि वैलेन्टाइन डे का प्रचार-प्रसार इस्लामिक शिक्षा के खिलाफ है। इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। याचिका में यह भी मांग की गई थी कि न केवल वैलेन्टाइन के सार्वजनिक स्थानों पर मनाने से रोक लगनी चाहिए, बल्कि प्रिन्ट, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया व सोशल मीडिया पर भी इसका प्रचार-प्रसार नहीं होना चाहिए।

pakistansource


Advertisement

अपने आदेश में जस्टिस शौकत अजीज ने कहा कि फेडरल मिनिस्ट्री ऑफ इन्फोर्मेशन और पाकिस्तान इलेक्ट्रोनिक मीडिया रेगुलेटरी ऑथोरिटी को निर्देश दिए गए हैं कि उसे प्रचार के हर माध्यम पर नजर रखनी होगी और उन्हें वैलेंटाइन डे को करने को लेकर मीडिया को सूचित भी करना होगा।



पाकिस्तान में वैलेन्टाइन डे मनाने को लेकर लोग बंटे हुए हैं। प्यार के इस त्यौहार का कुछ लोग समर्थन करते हैं तो कुछ विरोध। पाकिस्तान में रेस्टोरेन्ट और बेकरी चलाने वाले लोग हाईकोर्ट के इस फैसले के विरोध में उतर आए हैं। वहीं, इस्लाम का हवाला देते हुए वैलेन्टाइन डे का विरोध करने वाले लोग इसे इन्साफ की जीत बता रहे हैं।

पिछले साल पाकिस्तान मुस्लिम लीग के अध्यक्ष ममनून हुसैन ने वैलेंटाइन डे पर पाबंदी लगाने की मांग की थी। उनका कहना था कि यह इस्लामिक परंपरा का हिस्सा नहीं है, इसलिए इस पर प्रतिबंध लगा देना चाहिए।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement