पाकिस्तान में खोला गया 300 साल पुराना गुरुद्वारा, 64 साल से था बंद

author image
Updated on 31 Mar, 2016 at 6:27 pm

Advertisement

पाकिस्तान में एक 300 साल पुराने गुरुद्वारा को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया है। पाकिस्तान से प्रकाशित अखबार ट्रिब्यून की रिपोर्ट के मुताबिक, पेशावर के जोगीवारा में स्थित भाई बीबा सिंह गुरुद्वारा पिछले 64 साल से बंद था।

इस गुरुद्वारा को किसने बनवाया था, इस पर विशेषज्ञों में मतभेद है।

कुछ मानते हैं कि इसे सिखों के 10वें गुरु गोबिंद सिंह के भाई बीबा सिंह ने बनवाया था। वहीं, कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि इसे सिख महाराजा रणजीत सिंह ने बनवाया था। उन्होंने पंजाब पर 1780 से 1839 तक हुुकूमत की थी।

बीबा सिंह गुरुद्वारा को भारत-पाकिस्तान बंटवारे के बाद बंद कर दिया गया था। माना जा रहा है कि बंटवारे के बाद यहां रहने वाले अधिकतर परिवार रावलपिंडी, हसन अब्दल और खैबर इलाकों में रहने चले गए। यहां सिखों की आवाजाही कम हो गई और इसलिए इसे बंद कर देना पड़ा।

फिलहाल इस गुरुद्वारे की मरम्मत पर करीब 8 लाख रुपए खर्च किए गए हैं। अब पेशावर में रहने वाले 1200 सिख यहां आकर भक्ति-अर्चना कर सकेंगे।

पाकिस्तान के सिख समुदाय ने भाई बीबा सिंह गुरुद्वारा को दोबारा खोले जाने पर खुशी जताई है।


Advertisement

बताया गया है कि पेशावर शहर में इससे पहले दो गुरुद्वारे थे। इनमें से एक पर पाकिस्तान की सेना ने अपना कब्जा जमा लिया था।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement