Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

क्या भारत और पाकिस्तान के मसले युद्ध से हल हो जाएंगे?

Published on 28 February, 2019 at 6:27 pm By

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले के बाद से ही देशभर में माहौल खराब हो गया है। इस हमले से भारत में गुस्से और शोक की लहर है। भारतीय जवानों की शहादत के कुछ ही घंटे बाद पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर स्थित जैश-ए-मोहम्मद ने एक वीडियो जारी कर इस हमले की जिम्मेदारी ली। घटना के 12 दिन बाद  26 फरवारी को भारत ने पुलवामा हमले का बदला लेते हुए पाकिस्तानी सीमा में कई आतंकी ठिकाने ध्वस्त कर दिए। भारत के इस एक्शन के बाद पाकिस्तान ने बुधवार को राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में भारतीय हवाई क्षेत्र में घुसकर हवाई सीमा का उल्लंघन करने की कोशिश की। इस दौरान पाकिस्तान के F-16 को मार गिराया गया। इस हवाई हमले में भारत ने भी अपना एक मिग-21 विमान खो दिया, जिसका एक पायलट दुर्भाग्यवश पाकिस्तानी सीमा में घुस गया।


Advertisement

 

 

फिलहाल दोनों देशों के बीच स्थिति काफी तनावपूर्ण है। इस बीच जो सवाल मुंह बाए खड़ा है वो ये कि क्या भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध जरूरी है ?  सवाल ये भी कि क्या युद्ध से कश्मीर का मसला हल हो जाएगा ? क्या इससे पाकिस्तान की सरपरस्ती में पल रहे चरमपंथी संगठनों को पालने की मानसिकता का खात्मा हो जाएगा।

क्या भारत अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर इस मुद्दे को उठाकर बदहाली का दंष झेल रहे पाकिस्तान पर कूटनीतिक दवाब नहीं बना सकता ? क्या इमरान सरकार इसपर कोई ठोस कार्रवाई करने की दिशा में पहल कर सकती है ? ऐसे बहुत से प्रश्न मुंह बाए खड़े हैं।

इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि भारत की रणनीति पाकिस्तान के मुकाबले हमेंशा से ज्यादा मजबूत रही है। जिस तरह पाकिस्तान वर्षों से कश्मीर में आतंकवाद फैलाने के नित नए पैतरे अपना रहा है, उससे अंतर्राष्ट्रीय मंच पर उसकी साख पर बट्टा तो लगा ही है। इसके आलावा उसकी अर्थव्यवस्था भी पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है। वो विश्व में अलग-थलक पड़ चुका है। दुनिया  के अधिकांश देश पाकिस्तान को आतंकवाद का सरपरस्त मान चुके हैं। ऐसी स्थिति में पाकिस्तान पर और अधिक दबाव बनाकर उसे पूरी तरह परास्त कर देने के बजाय युद्ध की नीति पर विचार करना क्या सही है ?

 



 

इस बात को नकारा नहीं जा सकता कि पाकिस्तान की ओर से आतंकियों को हमेशा से ही समर्थन हासिल रहा है।


Advertisement

मुंबई में हुआ आतंकी हमला हो या पठानकोट एयरबेस में आतंकियों की घुसपैठ। पाकिस्तान ने कभी भी आतंकवाद के खिलाफ कोई ठोस और भरोसेमंद  कार्रवाई नहीं की है। लेकिन जिस तरह सोशल मीडिया पर  कुछ लोग इस तनावपूर्ण स्थिति को वीडियो गेम की लड़ाई समझ रहे हैं उसे देख लग रहा है कि इतिहास में उन्होंने युद्ध से हुए परिणामों के बारे में गहनता से जानकारी नहीं जुटाई। निसंदेह आर्थिक शक्ति के रूप में उभर रहा भारत तकनीकि विकास के मामले में पाकिस्तान से कहीं आगे है, लेकिन युद्ध के दौरान दुश्मन पानी के गोले तो बरसाने नहीं लगा। ऐसे में नुकसान तो दोतरफा ही होगा।

 

 

दोनों देशों के बीच इस वक्त रिश्ते काफी तल्ख हो चुके हैं। भारत और पाक की मीडिया के न्यूजरूम वॉर रूम में तब्दील हो चुके हैं। युद्ध से पहले हमें गहनता से उसके नतीजों के बारे में सोचना होगा। दक्षिण एशिया की दो एटमी ताकतें यदि युद्ध करती हैं तो ये इंसानियत के लिए किसी खतरे की घंटी से कम नहीं। ये दोनों देश वैसे ही गरीबी, भुखमरी, जलालत और बेरोजगारी की मार झेल रहे हैं। ऐसे में युद्ध को न्योतादेकर हम कहां जाने की तैयारी में है ?


Advertisement

युद्ध की शुरुआत जोश से होती है और इसके नतीजे हतोत्साहित करने वाले होते हैं। आपकी क्या राय है कमेंट बॉक्स पर लिखें।

Advertisement

नई कहानियां

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग

Tamilrockers पर लीक हुई ‘छिछोरे’, देखने के साथ फ्री में डाउनलोड कर रहे लोग


Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!

Sapna Choudhary Songs: सपना चौधरी के ये गाने किसी को भी थिरकने पर मजबूर कर दें!


जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका

जानिए कैसे डाउनलोड करें YouTube वीडियो, ये है आसान तरीका


प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें

प्रधानमंत्री आवास योजना से पूरा होगा ख़ुद के घर का सपना, जानिए इससे जुड़ी अहम बातें


ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं

ब्रह्माजी को क्यों नहीं पूजा जाता है? एक गलती की सज़ा वो आज तक भुगत रहे हैं


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर