पाकिस्तान में स्टाइलिश दाढ़ी पर बवाल, काउंसिल ने बताया गैर-इस्लामिक

Updated on 3 Sep, 2018 at 6:35 pm

Advertisement

स्टाइलिश दाढ़ी-मूछों को आज के जमाने में स्टाइल-स्टेटमेन्ट माना जाता है। युवकों में अपनी दाढ़ी को संवारने का क्रेज काफी बढ़ गया है। वे न केवल अपने पहनावे को लेकर बेहद सजग हैं, बल्कि दाढ़ी के प्रति भी दीवानगी बढ़ी है। तभी तो क्रिकेटर्स से लेकर आम नवयुवक तक अब स्टाइलिश दाढ़ी रख रहे हैं।

अपने टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली को ही ले लीजिए।

 

विराट कोहली

 

कुछ महीने पहले हमने एक खबर प्रकाशित की थी जिसमें कहा गया था कि किस तरह अपनी स्टाइलिश मूंछों की वजह से पाकिस्तान में एक शिक्षक को अपनी नौकरी गंवानी पड़ी थी।

 

हसीब अली चिश्ती

 

बच्चों को ड्रामा सिखाने वाले हसीब अली चिश्ती नाम के शख्स को स्कूल से महज इसलिए निकाल दिया गया था क्योंकि प्रबंधन को यह लगता था कि उनकी मूंछें बच्चों को लिबरल आइडियाज देते हैं। साथ ही उनकी स्मार्टनेस से लड़कियों का ध्यान भटक सकता है।


Advertisement

 

हसीब अली चिश्ती

 

पाकिस्तान अब हसीब अली चिश्ती प्रकरण से आगे बढ़ गया है। अब पाकिस्तान के पंजाब प्रान्त में डेरा गाजी खान जिले में युवक अलग-अलग शेप में या स्टाइलिश दाढ़ी नहीं रख सकेंगे। दरअसल, डेरा गाजी खान जिला परिषद ने स्टाइलिश दाढ़ी को प्रतिबंधित करने के लिए प्रस्ताव पारित कर दिया है।

 

cricketcountry
कई पाकिस्तानी क्रिकेटर्स भी इस्लाम के मुताबिक दाढी रखते हैं।

 

इस प्रस्ताव में स्टाइलिश दाढ़ी को इस्लाम के खिलाफ बताया गया है। प्रस्ताव के माध्यम से स्टाइलिश दाढ़ी के ट्रेन्ड पर पूरी तरह पाबंदी लगाए जाने की बात कही जा रही है।

इस बारे में आपका क्या कहना है?

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement