इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के लिए भारत से भेजी गई दर्दनिवारक गोलियां, इटली में जब्त

author image
Updated on 11 May, 2017 at 12:11 pm

Advertisement

इटली की पुलिस ने इस्लामिक स्टेट के आतंकियों के लिए भारत से भेजी गई दर्द-निवारक गोलियों से लदे एक जहाज को जब्त करने का दावा किया है। ट्रामाडोल नामक इन गोलियों को लीबिया में इस्लामिक स्टेट के आतंकियों को बेचा जाना था। यह दर्द-निवारक दवा आतंकियों के बीच जिहादी गोली के रूप में प्रचलित है।

इटली पुलिस के मुताबिक, ट्रामाडोल एक खास किस्म की दर्द निवारक दवा है और इसका इस्तेमाल दो मकसदों के लिए जाता है। इसका इस्तेमाल इस्लामिक स्टेट के आतंकी न केवल दर्द से निपटने के लिए करते हैं बल्कि इससे उन्हें आर्थिक मदद भी पहुंचती है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक, दवा की यह खेप एक जहाज पर तीन कन्टेनर्स में मौजूद हैं। इन कन्टेनर्स पर कंबल और शैम्पू लेबल लगा था। इसे लीबिया में मिसराता और टोब्रुक के लिए एक मालवाहक जहाज पर लोड किया जा रहा था।



जांचकर्ता कहते हैं कि ट्रामाडोल नामक यह भारतीय फर्मा कंपनी में बनी है, जिसे ढाई लाख डॉलर में दुबई स्थित एक आयातक को बेचा गया था। इस आयातक ने इस दवा को भारत से श्रीलंका भेज दिया, जहां से यह दवाएं दस्तावेजों से गायब हो गईं।

इससे पहले मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया था कि नाइजीरिया में बोको हरम अपने लड़ाकों को मिशन पर भेजने से पहले उन्हें ट्रामाडोल की गोलियां देता है। इसी मामले में नीदरलैन्ड की पुलिस को भी कई संदिग्ध लोगों की तलाश है।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement