‘पद्मावती’ पर बवालः फिल्म और कला के नाम पर इतिहास के साथ छेड़छाड़ कितना जायज है?

author image
Updated on 28 Jan, 2017 at 11:23 am

Advertisement

फिल्मकार संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ पर बवाल जारी है। जयपुर में फिल्म की शूटिंग के दौरान भंसाली से साथ हाथापाई और मारपीट की खबरें हैं।

इस फिल्म का विरोध करने वाले राजपूत समुदाय का मानना है कि भंसाली ‘पद्मावती’ में राजपूत रानी पद्मावती के इतिहास को तोड़-मरोड़ कर पेश कर रहे हैं। प्रदर्शन में मुख्य भूमिका निभा रही स्थानीय करणी सेना के मुताबिक, रानी पद्मावती का किरदार निभा रहीं दीपिका पादुकोण और अलाउद्दीन खिलजी का किरदार निभा रहे रणवीर सिंह के बीच आपत्तिजनक ‘लव सीन्स’ फिल्माए जा रहे थे और यही इसके विरोध का मुख्य कारण बना।

इस संबंध में अब तक न संजय लीला भंसाली और न ही उनकी टीम की तरफ से कोई बयान आया है कि वस्तुतः मामला क्या है।

जहां तक भारतीय इतिहास की बात है तो राजपूत रानी पद्मावती को उनकी वीरता के लिए जाना जाता है। उन्होंने अपनी आन-बान-शान को बचाने के लिए ‘जौहर’ ( इज्जत बचाने के लिए राजपूत महिलाओं द्वारा किया जाने वाला आत्मदाह) कर लिया था। उस वक्त इस्लामिक आक्रमणकारी अलाउद्दीन खिलजी ने चित्तौड़गढ़ किले पर हमला किया था और इसे नेस्त-नाबूत करने की कोशिश की थी।


Advertisement

इस फिल्म में अभिनेता रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी के रोल में हैं, जबकि रानी पद्मावती का रोल कर रही हैं दीपिका पादुकोण। अलाउद्दीन पद्मावती की ख़ूबसूरती का दीवाना होता है और हर हाल में उसे हासिल करना चाहता है।

इस फिल्म में कथित तौर पर अलाउद्दीन खिलजी और पद्मावती के बीच प्रेम प्रसंग को दिखाया गया है। जबकि पद्मावती को उनके ‘जौहर’ के लिए जाना जाता है। उनकी वीरता के लिए जाना जाता है। राजस्थान का राजपूत समुदाय अपने इतिहास, अपनी परंपराओं, अपनी सांस्कृतिक विरासत पर गौरव करता है। अब सिर्फ राजपूत समुदाय की ही नहीं है।

सवाल यह है कि कला या अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर इतिहास से छेड़छाड़ की इजाजत होनी चाहिए या नहीं? इस बात पर बहस होनी चाहिए।

इससे पहले भी बॉलीवुड में कई ऐसी फिल्में बनीं हैं, जिनमें इतिहास को गलत तरीके से पेश किया गया है। प्रसंग पूरी तरह बदल दिए गए। कथानक विरोधाभारी रहे। दरअसल, बॉलीवुड अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के नाम पर हदें लाघंता रहा है।

‘पद्मावती’ पर चल रहे बवाल के बीच फिल्मकार संजय लीला भंसाली ने अपनी प्रतिक्रिया नहीं दी है। मीडिया को उनकी प्रतिक्रिया का इन्तजार है। फिलहाल आप अपनी प्रतिक्रिया कमेन्ट बॉक्स में लिख सकते हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement