Advertisement

टोयोटा फॉर्च्यूनर के मालिक ने अपनी 40 लाख की गाड़ी में भरा कचरा, ये है वजह

3:45 pm 8 Jun, 2018

Advertisement

मिड-साइज की कई सेडान और हैचबैक कारें बनाने वाली जापानी वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा देश के महंगे एसयूवी बाजार में भी अपनी अलग पहचान बना चुकी है। टोयोटा की एसयूवी फॉ‌र्च्यूनर को महंगी और लग्जरी गाड़ियों में गिना जाता है। कंपनी अब तक इस गाड़ी के कई संस्करण ला चुकी है, जिन्हें काफी पसंद भी किया गया है। हालांकि, पुणे के रहने वाले एक शख्स ऐसे हैं जो टोयोटा कंपनी की इस गाड़ी को लेकर इस कदर नाराज हैं कि उन्होंने अपनी नयी फॉर्च्यूनर को म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन को कचरा उठाने के लिए दान में देने का फैसला कर लिया।

 

क्या है पूरा मामला विस्तार से बताते हैं।

 

 


Advertisement

पुणे के रहने वाले हेमराज चौधरी ने इस साल मार्च में 39 लाख रुपए की टोयोटा फॉर्च्यूनर खरीदी थी, लेकिन चंद रोज बाद ही गाड़ी में खराबी  आ गई। इसके बाद उन्होंने गाड़ी को सर्व‍िसिंग के लिए सर्विस सेंटर भेजा, लेकिन फिर भी गाड़ी में दिक्कत जस की तस बनी रही। बार-बार  रिपेयरिंग कराने पर भी सर्विस सेंटर से गाड़ी पूरी तरह ठीक होकर नहीं लौटी। इस बात से नाराज कार मालिक हेमराज चौधरी ने गाड़ी में कूड़ा भरकर उसे दोबारा सर्विस सेंटर भेज दिया।

 

 

हेमराज के मुताबिक गाड़ी को सर्विस सेंटर से पुलिस स्टेशन भेजा गया था, हालांकि अब तक इस बात की पुष्टि नही हो सकी है। कार मालिक के संज्ञान में जब ये बात आई कि उनकी गाड़ी पुलिस स्टेशन का चक्कर काट आई है तो उन्होंने गाड़ी को म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन में कचरा उठाने के लिए दान करने का फैसला किया। अब तक ये बात साफ नहीं हो सकी है कि उन्होंने आवेश ये कदम गुस्से में उठाया है या फिर वो कार दान करने को लेकर वाकई गंभीर हैं।

 

लग्जरी और महंगी कारों के शौकीन बजट और जरूरतों  के हिसाब से अपनी पसंदीदा कार करीदने के लिए जिंदगी भर की गाढ़ी कमाई  लगा देते हैं। ऐसे में अगर नयी गाड़ी में इस तरह की दिक्‍कत आ जाए तो गुस्सा आना स्वाभाविक  है।

 

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement