भैंस चराकर कर रहे भरपूर कमाई, चरवाहे बन रहे प्रोफेशनल

Updated on 16 Jun, 2017 at 3:40 pm

Advertisement

क्या कभी आपने सोचा है कि भैंसों को चराकर भी अच्छी कमाई की जा सकती है? अमूमन इसका जवाब होगा नहीं। लेकिन अब स्थितियां बदल रही हैं। अब भैंसों को चराने का काम पेशेवर रूप ले रहा है। चरवाहे भी प्रोफेशनल हो रहे हैं और अच्छी कमाई कर रहे हैं।

बिहार के सहरसा जिले के रहने वाले झकस कुमार की बात करें तो वह सिर्फ भैंस चराकर अच्छी कमाई कर रहे हैं। नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे के पास स्थित झट्टा गांव के किसानों ने अपनी भैंसो को चराने के लिए झकस को आउटसोर्स किया है। अनपढ़ झकस के पास 50 भैंसें हैं। उन्हें हर महीने 25 हजार रुपये मिलते हैं। झकस की तरह बिहार और यूपी के कई लोग यहां इसी काम में लगे हुए हैं।

एक ग्रामीण के अनुसार जो लोग चरवाहों का काम कर रहे हैं, वे मुख्य रूप से एनसीआर में फसल की बुआई और कटाई के लिए आते थे। इधर, किसानों के पास इतना समय नहीं होता है कि वे दिनभर भैंसों को चराने में लगे रहें। किसानों ने ही इन मजदूरों को यह आइडिया दिया कि वह उनकी भैंस चरा दे, बदले में प्रति भैंस 500 से 700 रुपये महीना ले लें।




Advertisement

आइडिया हिट हुआ और अब इलाके के बदौली, गुलावली, कोंडली, काम नगर आदि गांवों में इसी तर्ज पर भैंसो की चरवाही हो रही है। किसान अनंगपाल ने बताया कि एक भैंस औसतन 8 से 10 किलो दूध हर रोज देती है। इस तरह महीने में एक भैंस से 15 हजार रुपये की कमाई हो जाती है। ऐसे में अगर 500 रुपये महीने लेकर कोई भैंसों को चरा देता है तो इससे किसानों को फायदा ही है। उनका दिनभर का टाइम भी बच जाता है।

नोएडा, ग्रेटर नोएडा के अलावा हरियाणा के फरीदाबाद इलाके के गांवों में भी उन्हें यह काम मिल जाता है। इस काम में अधिकतर बिहार और पूर्वी यूपी के लोग लगे हुए हैं।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement