Advertisement

OPPO ने भारतीयों को कहा भिखारी, तो पंजाब टीम ने दिया इस्तीफा

5:06 pm 22 Jul, 2017

Advertisement

मार्च में चीन की मोबाइल फोन निर्माता कंपनी ओपो के एक कर्मचारी ने तिरंगे का अपमान किया था, जिसके बाद मामला गरमा गया। हालांकि कंपनी ने बाद में दोषी कर्मचारी को निकाल दिया था।

इस मामले को शांत हुए अभी कुछ महीने ही हुए हैं कि ओपो अब नए विवाद में फंस गई है। दरअसल, कुछ दिन पहले एक चिट्ठी सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी। इस चिट्ठी में दावा किया गया था कि चीनी मोबाइल कंपनी ने भारतीयों को “भिखारी” बताया, जिसके बाद ओपो पंजाब की सर्विस टीम ने इस्तीफा दे दिया।

हालांकि अब कंपनी का कहना है कि मामला निपटा लिया गया है।

कहा जा रहा है कि वेतन बढ़ाने के मुद्दे पर कंपनी के एचओडी की तरफ से कहा गया कि सभी भारतीय भिखारी होते हैं। अपने देश और देशवासियों के इस अपमान की वजह से ही पूरी पंजाब सर्विस टीम ने इस्तीफा दे दिया। हालांकि, ओपो इंडिया ने कर्मचारियो के इस्तीफे वाले लेटर पर कहा है कि लेटर में जिन सदस्यों का नाम लिखा है उनमें से किसी ने इस्तीफा नहीं दिया है।

इस्तीफे वाला ये लेटर सबसे पहले ट्विटर पर साझा किया गया था।

लेटर को सत्यापित नहीं किया जा सका है। हालांकि इस लेटर पर ओपो पंजाब सर्विस टीम के अपेक्षित कर्मचारियों के हस्ताक्षर तारीख के साथ मौजूद हैं। यह पत्र सर्विस मैनेजर अरुण शर्मा के जिक्र के साथ शुरू होता है, जिन्हें एचओडी द्वारा टीम से इस्तीफा देने के लिए कहा जा रहा है। पत्र में दावा किया गया है कि एचओडी ने भारतीयों का अपमान किया है और पूरी टीम के इस्तीफे के लिए वह दोषी है।

एक अंग्रेज़ी दैनिक की खबर के मुताबिक कंपनी ने चिट्ठी की प्रामाणिकता पर कुछ बोलने से मना कर दिया है। वहीं, सर्विस मैनेजर अरुण शर्मा का कहना है कि उनकी टीम में से किसी ने भी इस्तीफा नहीं दिया है और कंपनी इस चिट्ठी की जांच कर रही है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement