सिर्फ एक हाथ से तैराकी करता है यह चैम्पियन; गाड़ी धोकर कर रहा है गुजारा

author image
Updated on 22 Jan, 2016 at 3:07 pm

Advertisement

हरियाणा के रहने वाले भरत कुमार का एक हाथ नहीं है, इसके वावजूद वह तैराकी चैम्पियन बन गए। उन्होंने अब तक 50 से अधिक इन्टरनेशनल मेडल जीते हैं और भारत का नाम रोशन किया है। लेकिन दुःख की बात यह है कि भरत को जीवनयापन के लिए गाड़ियों की सफाई करनी होती है।

फिलहाल नजफगढ़ में रहने वाले भरत कुमार कहते हैं कि उन्होंने भैंस की पूंछ पकड़कर तैराकी सीखी थी। बचपन से उनका एक हाथ नहीं है, इसलिए भैंस की पूंछ पकड़कर तैराकी सीखने में आसानी हुई।

वह कहते हैंः


Advertisement

जब मैं 9 साल का था, बुआ के साथ रहता था। गाजियाबाद के वैशाली और इंद्रापुरम के बीच एक नहर में भैंसे नहलाने के लिए ले जाता था और वहीं भैंस की पूंछ पकड़कर तैराकी सीख ली।

भरत दिल्ली विश्वविद्यालय में हंसराज कॉलेज के छात्र हैं और पैरा ओलिम्पिक में मेडल जीतना चाहते हैं, लेकिन पैसों की कमी की वजह से वह ट्रेनिंग नहीं ले पा रहे हैं। यही नहीं, उन्हें घर चलाने के लिए छोटे-मोटे काम करने पड़ रहे हैं।

उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मदद की अपील की है।

Advertisement
Tags

आपके विचार


  • Advertisement