NIA अधिकारी तंजील अहमद के परिजनों को 1 करोड़ रुपए का मुआवजा

author image
9:38 am 4 Apr, 2016

Advertisement

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) अधिकारी तंजील अहमद के परिजनों को 1 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया जाएगा।

अहमद की उत्तर प्रदेश के बिजनौर में गोली मार कर हत्या कर दी गई थी। उनकी हत्या उस वक्त हुई, जब वह पत्नी फरजाना और दो बच्चों के साथ एक शादी समारोह में शामिल होने के बाद वापस लौट रहे थे। तंजील अहमद को 24 गोलियां लगीं थीं, जबकि फरजाना को चार गोलियां मारी गई।

उनके पार्थिव शरीर को रविवार शाम दिल्ली में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। उन्हें दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के कब्रिस्तान में दफनाया गया।


Advertisement

दिल्ली सरकार के एक अधिकारी के मुताबिक, मोहम्मद तंजील अहमद के परिजनों को एक करोड़ रुपए की क्षतिपूर्ति राशि दी जाएगी।

आतंकी वारदात

तंजील अहमद के परिजनों और करीबियों का कहना है कि उनकी हत्या एक आतंकवादी वारदात है। बताया जाता है कि तंजील पठानकोट हमले की जांच से जुड़े हुए थे। उन्होंने इस्लामिक स्टेट और अन्य आतंकवादी संगठनों के मॉड्यूल और नेटवर्क का खुलासा किया था। वह आतंकवादियों के कोड-वर्ड पकड़ने में माहिर थे।

सुनियोजित हत्या

एनआईए के आईजी संजीव कुमार सिंह ने इस घटना को सुनियोजित हत्या करार दिया। उन्होंने कहा कि तंजील अहमद पर उस वक्त हमला किया गया, जब उनकी कार एक निर्माणाधीन पुलिया के पास से गुजर रही थी। रास्ता खराब होने की वजह से उनकी कार धीमी थी और हत्यारे घात लगाए बैठे थे। उनको कुल 24 गोलियां मारी गईं। वह पिछले साढ़े छह साल से एजेन्सी में थे।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement