यह धरती का सबसे पुराना पेड़ है, इसकी आयु जानकर यकीन करना होता है मुश्किल

Updated on 14 May, 2018 at 6:31 pm

Advertisement

ये तो हम सभी जानते ही हैं कि पृथ्वी पर जीवन का अस्तित्व बहुत बाद में जाकर हुआ। वैज्ञानिक मानते हैं कि पृथ्वी एक आग का गोला रही थी। हालांकि, धीरे-धीरे यह ठंडी होती गई। करीब 4.5 बिलियन वर्ष पुराने इस धरती पर जीवन बेहद संघर्षभरा रहा है। पेड़-पौधे से लेकर जीव-जंतु तक पनपते रहे हैं तो विलुप्त भी होते रहे हैं। हालांकि, यह साप है कि यहां जीवों से पहले वनस्पति उग आये होंगे।

वैज्ञानिकों की मानें तो लगभग 480 मिलियन वर्ष पहले पृथ्वी पर पेड़-पौधे आए और फिर बाद में जानवरों का आगमन हुआ। जीवन-मृत्यु के अनवरत सिलसिले में डायनासोर जैसे कई जीव और प्रजाति काल-कवलित होते गए। इसी संदर्भ में अब एक खास बात पता चली है।

अमेरिका के ब्रिस्टलकोन पाइन्स को दुनिया का सबसे पुराना पेड़ बताया जा रहा है। इसकी उम्र लगभग 5,065 साल बताई जाती है।

 

aviott


Advertisement

 

हालांकि, ताजा शोध में जो बातें पता चली हैं, वह इसके ठीक उलट है।

 

शोध के मुताबिक, स्वीडन के डलारना क्षेत्र के पहाड़ों पर पाया जाने वाला पेड़ ‘ओल्ड झिक्को’ नामक पेड़ लगभग 9,550 साल का है।

 

 

इस पेड़ की जड़ों पर रेडियो कार्बन डेटिंग से इसके उम्र का पता लगाया गया है। कार्बन डेटिंग के बाद विशेषज्ञों का कहना है कि यह पेड़ सबसे पुराना पेड़ है। इससे पहले ब्रिस्टलॉकोन पाइन्स को सबसे पुराना पेड़ बताया जाता था।

 

इस पेड़ का नाम है ‘ओल्ड झिक्को’। इसे साल 2004 में प्रोफ़ेसर लीफ कुल्लमन ने खोजा था। इसकी लम्बाई महज 13 फीट है। शोध वैज्ञानिकों की मानें तो इस पेड़ ने अपनी जड़ों को हिम युग में फैलाईं थीं। प्रोफ़ेसर लीफ का कहना है कि यह पेड़ सेल्फ क्लोनिंग करने में सक्षम है, लिहाजा इतने साल तक जीवित रह सका।

 

सालों से खड़े इस पेड़ को देखकर यही कहा जा सकता है कि टिके रहने के लिए अगर हौसला हो तो कड़े संघर्ष से फतह संभव है!


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement