पुराने ज़माने में अनचाहे गर्भ से बचने के लिए लोग अपनाते ये खास तरीके

5:28 pm 16 May, 2018

कहा जाता है कि गर्भनिरोधक यानी कॉन्ट्रासेप्शन के बारे में तभी सोचा गया जब अवैध संबंध बढ़ने लगे और नतीजतन अनवांडटेड प्रेग्नेंसी के मामलों में बढ़ोतरी हुई। तो क्या आपने कभी सोचा है कि कॉन्डम और किसी भी तरह की गर्भनिरोधक गोलियों के आविष्कार से पहले लोग अनचाहे गर्भ से बचने के लिए क्या करते थे? शायद आपको भी इस बारे में कोई जानकारी नहीं होगी। चलिए आपको इस बारे में थोड़ी जानकारी दे दें।

 

Preventing impregnation

 

दरअसल, कोरा पर किसी ने ये सवाल किया था कि कॉन्डम के आविष्कार के पहले लोग अनचाहे गर्भ से कैसे बचते थे? इस सवाल का बहुत से लोगों ने जवाब दिया और वहीं से पता चला कि पुराने ज़माने में लोग गर्भ ठहरने से बचने के लिए क्या-क्या तरीके आज़माते थे।

सबसे आम तरीका था संबंध बनाने के दौरान विदड्राअल या पुल आउट मैथेड अपनाना यानी इजेक्युलेशन से पहले ही
हट जाना।

 

कहा जाता है कि यदि इस तरीके को सही तरह से इस्तेमाल किया जाए, तो साल में 100 में से केवल 4 महिलाएं ही प्रेग्नेंट होंगी। हालांकि, ऐसा करना मुश्किल है।

 

Preventing impregnation in the past

17वीं सदी में कैसनोवा ने भेड़ की आंत से एक तरह का कॉन्डम बनाया, हालांकि उसमें छेद था जिससे रिसाव हो सकता था। फिर भी कुछ नहीं इस्तेमाल करने से तो अच्छा ही था।

 

कहा जाता है कि गर्भ को ठहरने से रोकने के लिए तब सूती कपड़े से लेकर मगरमच्छ के डंक तक कई आजीब चीजों का इस्तेमाल किया जाता रहा था। इसके अलावा संबंध बनाने के तुरंत बाद महिलाएं प्राइवेट को धो लेती थी, ताकि प्राइवेट पार्ट में किसी तरह के स्पर्म न रहें और वो धुल जाएं।

 



Preventing impregnation method

इसके अलावा पुरुष संबंध बनाने के लिए वो समय चुनते थे जब महिलाओं की प्रजनन क्षमता कम मानी जाती थी।

 

मगर असल में होता इसका उल्टा था। पुरुषों को लगता था कि मासिक धर्म के समय महिलाओं की प्रजनन क्षमता ज़्यादा होती है।

 

Preventing impregnation

 

इसके अलावा यदि गर्भ ठहर जाए तो उसे गिराने के लिए लोग कई देसी तरीके आज़माते थे। हालांकि, इसमें से अधिकाश का कोई असर नहीं होता था या फिर इससे मां की जान को ही खतरा रहता था।

 

Preventing impregnation

 

ये भी कहा जाता है कि लोग प्रेग्नेंसी से बचने के लिए संबंध बनाने से ही परहेज़ करते थे।

आपके विचार