इस रिएलिटी शो में जीत के लिए घिनौने अपराध करने की भी होगी अनुमति, नये साल पर शुरू होगा प्रसारण

author image
Updated on 26 Dec, 2016 at 5:24 pm

Advertisement

टीवी पर दिखाए जाने वाले रिएलिटी शो, टीआरपी के लिए किसी भी हद तक गुजर सकते हैं, ये हम सबको पता है। अभद्र नग्नता और कुछ भी कर गुजरने की थीम की चाशनी, आम दर्शकों को ऐसे परोसी जाती है जैसे पसंदीदा प्रतियोगी हमारे जीवन का अहम हिस्सा हो।

अचरज की बात है कि मनोरंजन के नाम पर प्रस्तुत होने वाले ऐसे बेहूदे रिएलिटी शो को काफी पसंद भी किया जाता रहा है। रिएलिटी शो का बढ़ता दायरा और गिरते मौलिक मूल्यों के स्तर, नग्नता और हिंसा के किस सीमा को पार करेंगी, इसका अंदाज़ा लगा पाना भी मुश्किल है।

आज चर्चा का विषय एक रिएलिटी शो बन गया है, जिसमें हिस्सा लेने वाले प्रतिभागियों को जीत के लिए हत्या और दुष्कर्म जैसे घिनौने अपराध करने की भी अनुमति होगी।

अमेरिकी साइंस फिक्शन व एक्शन फिल्म ‘द हंगर गेम्स’ की तर्ज पर शुरू होगा ‘गेम-2 विंटर’ filmosphere

बेहद हिंसक और दिल दहला देने वाले इस रिएलिटी शो का नाम ‘गेम-2 विंटर’ है। इस रिएलिटी शो का प्रसारण नये साल के शुरुआत में रूस में किया जाएगा।


Advertisement

सर्बियन टाइम्स की रिपोर्ट की माने तो इसमें शामिल होने वाला प्रतिभागी अपंग या मारा भी जा सकता है, जिसके तहत  पहले ही सभी प्रतिभागियों से एक खास तरह का करार करा लिया गया है। नौ महीने तक चलने वाले इस रिएलिटी शो में करीब 30 महिलाएं और पुरूष, खूंखार भेड़ियों और भालुओं वाले जंगल में जीवित रहने के लिए संघर्ष करेंगे। यहां जीतने वाले प्रतिभागी को 1.6 मिलियन डॉलर की बड़ी राशि मिलेगी।

साइबेरिया का वो जॅंगल जहाँ इस रिएलिटी शो के लिए 30 प्रतियोगी बिताएँगे नौ महीने jagran

इस रियलिटी शो के लिए 900 हेक्टेयर में फैले साइबेरिया के जंगल के हिस्से को चुना गया है। जहां प्रतिभागियों को शराब, धूम्रपान, जीवित रहने के लिए हत्या और दुष्कर्म जैसे अपराध करने की आजादी रहेगी।

रिपोर्ट के मुताबिक, रिएलिटी शो के प्रतियोगियों की एक-एक गतिवीधी पर नजर रखने के लिए जंगल में 2000 से ज्यादा कैमरे लगाए गए हैं।  प्रतिभागी को एक चाकू के अलावा सात घंटे तक चलने वाली एक रिचार्जेबल बैटरी और कैमरा ले जाने की भी छूट मिली है।

गौरतलब है कि इसी रिएलिटी शो का कॉन्सेप्ट काफी हद तक हॉलीवुड फिल्म ‘द हंगर गेम्स’ से मिलता-जुलता है, लेकिन यह ध्यान रखना चाहिए कि वह एक फिल्म थी। मनोरंजन को हिंसा और बेशर्मी का रूप देकर एक रिएलिटी शो के जरिए हमारे घरों तक पहुंचाया जा रहा है। निश्चित ही ऐसे टीवी शो उस मौलिक पतन की तरफ बढ़ गए हैं जहां लोकप्रियता के नाम पर कुछ भी दिखा सकते हैं।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement