यह लड़की कभी स्कूल नहीं गई, फिर भी हो गया MIT में दाखिला

author image
Updated on 30 Aug, 2016 at 6:33 pm

Advertisement

प्रतिभा डिग्रियों की मोहताज नहीं होती। मुंबई की मालविका जोशी ने जो कुछ कर दिखाया है, उससे यह साबित हो गया है।

इन्डियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, 17 वर्षीय मालविका के पास न तो 10वीं कक्षा की मार्कशीट है और न ही 12वीं की डिग्री। इसके बावजूद उसे अमेरिका के प्रतिष्ठित शिक्षण संसंथान MIT में दाखिला मिल गया है।

दरअसल, घर में रहकर पढ़ाई करने वाली मालविका ने तीन बार प्रतिष्ठित इंटरनेशनल इंफोर्मेटिक्स ओलंपियाड में जीत हासिल की है। उसे दो बार रजत और एक बार कांस्य पदक मिला।

MIT किसी भी अंतर्राष्ट्रीय ओलंपियाड में मेडल जीतने वाले प्रतिभावान छात्रों को अपने संस्थान में शोध करने की इजाज़त देता है। यही वजह है कि अब मालविका अपने पंसद की फील्ड यानि कंप्यूटर इंफोर्मेटिक्स में पढ़ाई कर सकेगी।


Advertisement

मालविका ने करीब चार साल पहले स्कूल की पढ़ाई छोड़ दी थी। उसकी दिलचस्पी कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में थी और उसने घर पर ही रहकर मां की देखरेख में अपनी प्रोग्रामिंग क्षमता का विकास किया।

डिग्री न होने की वजह से मालविका को दूसरे प्रतिष्ठित भारतीय शिक्षण संस्थाओं में दाखिला नहीं मिला। बड़ी मुश्किल से उसे चैन्नई मैथमैटिकल इन्सटीट्यूट में दाखिला मिल सका था।

मालविका की इस उपलब्धि में उनकी मां का अहम योगदान रहा है।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement