Topyaps Logo

Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo Topyaps Logo

Topyaps menu

Responsive image

क्रिकेट खेलने की इतनी जल्दी थी कि राष्ट्रगान के लिए खड़े ही नहीं हुए

Published on 10 November, 2017 at 5:21 pm By

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ दूसरा टी 20 मैच में डेब्यू करने वाले 23 वर्षीय गेंदबाज़ मोहम्मद सिराज के लिए यह किसी सपने के सच होने जैसा था। तभी तो जब मैच शुरू होने से पहले वह टीम इंडिया के साथ राष्ट्रगान के लिए स्टेडिमय में आए तो अपनी भावनाओं को काबू न कर सके और उनकी आंखों से खुशी के आंसू छलक पड़े।


Advertisement

हालांकि, आपको जानकर हैरत होगी कि त्रिवेन्द्रम T-20 क्रिकेट मैच के दौरान राष्ट्रगान हुआ ही नहीं।

त्रिवेन्द्रम T-20 क्रिकेट मैच के दौरान हड़बड़ी में गड़बड़ी का बड़ा उदाहरण देखने को मिला है। यहां के ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल ग्राउंड में केरल क्रिकेट एसोसिएशन (केसीए) ने भारत और न्यूजीलैंड के बीच 7 नवंबर को पहला अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच आयोजित किया था।



जैसा कि नियम है कि खेल शुरू होने से पहले दोनों देश की टीम्स को अपने-अपने राष्ट्रगान के लिए खड़ा होना था, लेकिन इस रिपोर्ट के मुताबिक संयोगवश यहां राष्ट्रगान हुआ ही नहीं और टॉस के ठीक तुरंत बाद मैच शुरू कर दिया गया।

firstpost
सांकेतिक तस्वीर

आयोजकों का ध्यान जब इस बड़ी गलती की तरफ आकर्षित किया गया है, तब उन्होंने कहा है कि दिन भर आपाधापी की वजह से यह गलती हो गई। 7 नवंबर को यहां पूरे दिन लगातार बारिश होती रही थी। यही वजह है कि मैच के ओवरों में कटौती कर दी गई और 8-8 ओवरों का मुकाबला कराया गया।

केरल क्रिकेट एसोसिएशन के सचिव जयेश जॉर्ज ने मीडिया से कहाः


Advertisement

“हां, यह हमारी तरफ से गलती हुई। हम सभी मैदान पर थे और बारिश के बाद मैच शुरू कराने की जल्दी में थे। हम राष्ट्रगान करना भूल गए। यह हमारी तरफ से एक गंभीर चूक है और मैं देश से माफी मांगता हूं। ऐसा फिर कभी नहीं होगा।”


Advertisement

इस मैच में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड पर 6 रनों से रोमांचक जीत हासिल की थी। हालांकि, अब चर्चा राष्ट्रगान के लिए खिलाड़ियों के खड़े न होने को लेकर हो रही है।

Advertisement

नई कहानियां

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े

कभी फ़ुटपाथ पर सोता था ये शख्स, आज डिज़ाइन करता है नेताओं के कपड़े


किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी

किसी प्रेरणा से कम नहीं है मोटिवेशनल स्पीकर संदीप माहेश्वरी की कहानी


इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो

इस फ़िल्ममेकर के साथ काम करने को बेताब हैं तब्बू, कहा अभिनेत्री न सही, असिस्टेंट ही बना लो


इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा

इस शख्स की ओवर स्मार्टनेस देख हंसते-हंसते पेट में दर्द न हो जाए तो कहिएगा


मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया

मां के बताए कोड वर्ड से बच्ची ने ख़ुद को किडनैप होने से बचाया, हर पैरेंट्स के लिए सीख है ये वाकया


Advertisement

ज़्यादा खोजी गई

टॉप पोस्ट

और पढ़ें News

नेट पर पॉप्युलर