यहां दो से अधिक बच्चे वालों को नहीं मिलेगी सरकारी नौकरी, चुनाव भी नहीं लड़ सकेंगे

author image
3:46 pm 10 Apr, 2017

Advertisement

भारत में जनसंख्या विस्फोट सबसे बड़ी समस्या है, लेकिन आश्चर्यजनक रूप से कोई भी राजनीतिक दल इस मुद्दे पर बात नहीं करता। जनसंख्या पर नियंत्रण के लिए विज्ञापन तो तमाम जारी किए जाते हैं, लेकिन धरातल पर शायद ही योजनाएं अमल में लाई जा रही हों। हालांकि, असम में जो कुछ भी हो रहा है, उससे उम्मीद जगती है।

असम में अब जनसंख्या नियंंत्रण को लेकर सख्त कानून बनाने की बात चल रही है। राज्य में भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने सुझाव दिया है कि दो से अधिक बच्चे वालों को सरकारी नौकरी में नहीं रखा जाए। राज्य सरकार की जनसंख्या नीति के इस मसौदे में दो से अधिक संतान वाले लोगों को सरकारी नौकरी नहीं देने और राज्य में सभी बालिकाओं को विश्वविद्यालय स्तर तक की शिक्षा निःशुल्क देने का सुझाव है।

असम के स्वास्थ्य मंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने कहाः


Advertisement

“यह मसौदा जनसंख्या नीति है। हमने सुझाव दिया है कि दो से अधिक संतान वाले किसी सरकारी नौकरी के पात्र नहीं होंगे। इस शर्त को पूरा करने के बाद नौकरी पाने वाले किसी व्यक्ति को अपने सेवाकाल के अंत तक इसे लागू रखना होगा।”

यही नहीं, राज्य सरकार की लाभकारी योजनाओं पर भी यह जनसंख्या नीति लागू होगी। इन योजनाओं में ट्रैक्टर देने, आवास उपलब्ध कराने सहित कई योजनाएं शामिल हैं।

राज्य निर्वाचन आयोग के अधीन होने वाले पंचायत, नगर निकाय और स्वायत्त परिषद चुनावों में भी उम्मीदवार के लिए यह नियम लागू होगा।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement