नीतीश कुमार का मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा, महागठबंधन टूटा

Updated on 14 Sep, 2017 at 9:24 pm

Advertisement

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। इसके साथ ही बिहार में राष्ट्रीय जनता दल व जनता दल यू के बीच महागठबंधन टूट चुका है और सरकार बिखर गई है। आज शाम जद यू ने एक महत्वपूर्ण बैठक बुलाई थी। बैठक के खत्म होते ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्यपाल केसरीनाथ त्रिपाठी से मिलने चले गए और उन्हें अपना इस्तीफा सौंप दिया।


Advertisement

इस्तीफा देने के बाद नीतीश ने संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने कभी किसी का इस्तीफा नहीं मांगा था।

उन्होंने कहा कि मौजूदा माहौल में उनके लिए काम करना बेहद कठिन था।

नीतीश ने कहा कि उन्होंने तमाम आरोपों पर बस स्पष्टीकरण मांगा था।

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस्तीफा देने के लिए नीतीश कुमार को बधाई दी है।

उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ एक होकर लड़ने को समय की मांग करार दिया।

इस बीच, नीतीश कुमार के इस्तीफे पर भारतीय जनता पार्टी ने स्पष्ट किया है कि वह बिहार में मध्यावधि चुनाव के पक्ष में नहीं है।

बिहार में मौजूदा संकट पर फैसला लेने के लिए भाजपा ने तीन सदस्यीय कमेटी का गठन किया है।

इस बीच, कांग्रेस पार्टी ने नीतीश के इस्तीफे को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

वहीं, दूसरी तरफ महागठबंधन टूटने से तिलमिलाए राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने नीतीश कुमार को हत्या और आर्म्स एक्ट का दोषी करार दे दिया। लालू ने दावा किया कि नीतीश को अपने फंसने का अंदाजा लग चुका था इसलिए उन्होंने भाजपा से पहले ही सेटिंग कर ली।


Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement