CRPF की मदद से छात्रों ने लहराया हाथ से बना तिरंगा, श्रीनगर पहुंची HRD टीम

author image
8:29 pm 6 Apr, 2016

Advertisement

“राष्ट्र केवल मात्र एक कपड़े का टुकड़ा नहीं है, बल्कि यह एक विचार है। मित्र, तुम एक विचार की हत्या नहीं कर सकते। अगर तुम एक झंडा छीनोगे तो हम सैकड़ों बना लेंगे। तुम इस झंडे को नहीं छीन सकते, क्योंकि यह हाथों में नहीं, दिलों में है। क्या तुम छीन सकते हो?”

यह स्टेटस सेव द स्टूडेन्ट्स ऑफ एनआईटी श्रीनगर नामक फेसबुक पेज पर लगाई गई है। NIT कैंपस में तिरंगा वापस करने की मांग कर रहे आन्दोलनरत गैर-कश्मीरी छात्रों ने आखिरकार यहां झंडा लहरा ही दिया। इसमें उनकी मदद की सीआरपीएफ के जवानों ने।

इस बीच, एनआईटी श्रीनगर में व्याप्त तनाव के बीच केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्रालय का दो सदस्यीय एक दल बुधवार को पहुंचा और संस्थान के अधिकारियों के साथ मंत्रणा की। इस दल ने आन्दोलनरत छात्रों से भी मुलाकात की।

छात्रों ने राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए उनके समक्ष अपनी पांच मांगें रखीं। दल में एचआरडी मंत्रालय में निदेशक (तकनीकी शिक्षा) संजीव शर्मा और उप निदेशक वित्त फजल महमूद शामिल हैं ।

छात्रों ने कहा है कि वे अपने घर जाना चाहते हैं। उन्होंने मांग की है कि संस्थान के मुख्य द्वार पर राष्ट्र ध्वज फहराया जाना चाहिए साथ में राज्य का झंडा भी फहराया जा सकता है।


Advertisement

छात्रों की दूसरी मांग यह है कि एनआईटी श्रीनगर में छात्रों की सुरक्षा के लिए केंद्रीय बलों को तैनात किया जाना चाहिए।

उन्होंने संस्थान में होने वाली सभी परीक्षाओं, कार्यक्रमों और गतिविधियों के दौरान समानता और पारदर्शिता बरतने की भी मांग करते हुए कहा कि संकाय की ओर से कोई शैक्षणिक उत्पीड़न नहीं होना चाहिए।

छात्रों ने कहा कि राष्ट्र विरोधी गतिविधियों और हिंसा में शामिल संकाय और प्रशासनिक सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

Advertisement

आपके विचार


  • Advertisement